• Tue. Jun 28th, 2022

अक्षय तृतीया

Byadmin

May 14, 2021

अक्षय तृतीया

हिंदू धर्म में त्योहार का विशेष महत्व है. इनमें एक अक्षय तृतीया का त्योहार भी है. वैशाख महीने की शुक्‍ल पक्ष की तृतीया तिथि को अक्षय तृतीया कहा जाता है. अक्षय तृतीया 14 मई को यानी आज मनाई जा रही है. हिंदू मान्यताओं के अनुसार, हर शुभ और मांगलिक कार्यों को करने के लिए इस तिथि को बेहद शुभ माना जाता है. शास्त्रों के अनुसार, इस दिन मां लक्ष्मी की पूजा करने से उनकी असीम कृपा बरसती है. पर कुछ ऐसे कार्य भी हैं जिन्हें इस दिन करने की मनाही होती है. आइए जानते हैं अक्षय तृतीया के दिन ऐसे कौन से कार्य हैं जिनके करने से मां लक्ष्मी नाराज हो सकती हैं.

क्रोध की भावना ना रखें.

इस दिन किसी के प्रति क्रोध की भावना नहीं रखनी चाहिए. अक्षय तृतीया के दिन मां लक्ष्मी की पूजा-अर्चना करने के बाद किसी के प्रति मन में बुरे विचार रखने से मां लक्ष्मी क्रोधित हो सकती हैं.

तुलसी के पत्तों को ना तोड़ें

अक्षय तृतीया के दिन मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु की पूजा की जाती है. इस पूजा में तुलसी के पत्तों का प्रयोग होता है. इसलिए बिना स्नान किए तुलसी के पत्तों को नहीं तोड़ना चाहिए. ऐसा करने से मां लक्ष्मी रुष्ट हो सकती हैं.

साफ-स्वच्छ कपड़े पहनकर ही पूजा करें

अक्षय तृतीया के दिन स्नान आदि से निवृत होकर साफ-स्वच्छ कपड़े पहनकर ही मां लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए. पूजा के लिए शुद्धता का विशेष ध्यान रखना चाहिए.

खाली हाथ घर लौटना शुभ नहीं माना जाता

अक्षय तृतीया के दिन खाली हाथ घर लौटना शुभ नहीं माना जाता है. इस दिन शुभ फल की प्राप्ति के लिए सोने की वस्तु जरूर खरीदें. अगर सोना खरीदना संभव न हो तो आप अपनी क्षमतानुसार किसी अन्य धातु से बनी चीज खरीद सकते हैं.

मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु की एकसाथ पूजा करें

अक्षय तृतीया के दिन मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु की पूजा होती है. इस खास मौके पर कभी भी मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु की पूजा अलग-अलग नहीं करनी चाहिए. अक्षय तृतीया के दिन मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु की एक साथ पूजा करने से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है

ब्यूरो चीफ

दिनेश सिंह

आजमगढ़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort