• Fri. May 20th, 2022

अपनी जीविका बचाओ और अपने धर्मानुष्ठान बचाओ तुम्हें कोई हिला नहीं सकता

Byadmin

Jun 28, 2021

हिंदुओं ! तुम्हारे हमारे संस्कारों पर हमला हुआ । आज 16 संस्कारों के स्थान पर दो तीन ही संस्कार बचे हैं । और , हम सब सोते रह गए ।देश की तीन चौथाई आबादी को सोलहों संस्कारों के नाम तक अब नहीं पता ।

हमारे , धर्मानुष्ठानों पर हमला हुआ और आधी आबादी मंदिर जाना छोड़ दी और बची हुयी आधे की आधी मज़ार पर नाक रगड़ने लगी ।

हमारे जीविका पर हमला हुआ । सभी परंपरागत शिल्प कर्म तथा अन्य कर्म करने वाले सरकारी नौकरी के चपरासी बनने को आतुर हो बैठे । अरबों रूपए का शिल्प कर्म , विधर्मी ले लिए और ओबीसी आरक्षण भी वे लपेट रहे ।

हमारे विद्या पर हमला हुआ । हम चुपचाप अपने बच्चों को कानवेंट भेजने लगे ।

बंगाल या कैराना या कश्मीर से जो पलायन हो रहा है वह अंतिम परिणाम है ।

जब संस्कारों पर हमला हो तभी उठों अन्यथा यह केवल दस बीस वर्षों की अवधि है केवल पलायन शेष रहेगा ।

संस्कारों को बचाओ , अपनी जीविका बचाओ और अपने धर्मानुष्ठान बचाओ तुम्हें कोई हिला नहीं सकता ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort