• Sun. May 29th, 2022

इस माह के अंत तक रेत की मंडियां नहीं लगेंगी – कलेक्टर श्री कार्तिकेयन

Byadmin

Feb 12, 2021

इस माह के अंत तक रेत की मंडियां नहीं लगेंगी – कलेक्टर श्री कार्तिकेयन
मुरैना 12 फरवरी 2021/ चालू माह फरवरी 2021 में रेत माफियाओं द्वारा जगह-जगह डंप की गई रेत को प्रशासन जप्त कर रहा है। शहर में जितनी भी रेत की मंडिया है, इस माह के अन्त तक खत्म कर दी जायेगी। यानी रेत की मंडी कहीं नहीं लगेंगी। यह बात कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने एक जानकारी में दी। उन्होंने कहा कि शहर के विकास एवं सुधार के लिये जो भी सुझाव आयेंगे, उन पर अमल किया जायेगा। उन्होंने कहा कि शहर से गोबर जैसी गंदगी को हटाने के लिये शहरवासियों का सहयोग जरूरी है। शहर में जगह-जगह गोबर है, इस गंदगी से पूरे शहरवासी ही परेशान है। हम सभी के प्रयास होना चाहिये कि कहीं पर गोबर के ढे़र नहीं लगाये जाये। कलेक्टर ने फिलहाल शहर के हर 4 वार्डो में गोबर उठाने के लिये एक-एक ट्रेक्टर-ट्राॅली लगाई है।
कलेक्टर ने बताया कि अवैध खनिज रेत उत्खनन, शराब माफियाओं को रोकने सरकारी भूमि पर किये अतिक्रमण को हटाने के लिये ब्लाॅक एवं अनुविभाग स्तर पर एसडीएम की अध्यक्षता में टीमें गठित की गई है। उन्होंने बताया कि चंबल कमिश्नर श्री अशीष सक्सेना द्वारा टास्क फोर्स की बैठक में अवैध उत्खनन, परिवहन एवं भण्डारण पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिये विशेष रणनीति बनाई गई है। इस बैठक में तय किया गया है कि ग्वालियर पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में ग्वालियर व मुरैना जिले की पुलिस, जिला प्रशासन, वन व खनिज विभाग के अधिकारी रेत के अवैध कारोबार के खिलाफ संयुक्त रूप से कार्रवाही करेंगे। रेत के अवैध परिवहन को रोकने के लिये ग्वालियर और मुरैना में नाके स्थापित कर बनाये जा रहे है। इन नाकों पर बदल-बदल कर कर्मचारियों को तैनात किया जायेगा, जो रेत जप्ती की कार्रवाही और पकड़े वाहनों को राजसात करने की कार्रवाही के लिये अग्रेषित करेंगे। संपूर्ण कार्रवाही की वीडियोग्राफी भी तैयार की जायेगी। शराब माफियाओं के खिलाफ सीधे उनकी संपत्ति जप्त करने, अवैध तरीके से बनाये गये घर-मकानों को तोड़ने की कार्रवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि पाॅलीटेक्निक काॅलेज के पास सरकारी जमीन पर चल रहे ईंट भट्टा को हटाने, जौरा गांव की डेमेज हो रही सड़क को सुधारने की कार्रवाही की जायेगी। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना पर पूर्ण अंकुश लगाने के लिये लग रही वैक्सीन के टीके का कोई रिजेक्शन नहीं है।

कलेक्टर ने कहा कि पुलिस अधीक्षक द्वारा जिला बदर के 136 प्रकरण भेजे है, इनमें से 15-16 लोंगो का जिला बदर कर दिया है। जिला बदर की कार्रवाही के लिये कार्रवाही करना होती है। इस माह के अंत तक सभी के खिलाफ जिला बदर की कार्रवाही कर दी जायेगी। कलेक्टर ने कहा कि मिलावटखोरों के खिलाफ भी मुहिम चलाई जा रही है। इस कार्य के लिये प्रथक से डिप्टी कलेक्टर को काम दिया है, जो फूड़ एवं औषधी निरीक्षकों की कार्रवाही पर नजर रखेंगे। ब्राण्ड बदलकर तेल उत्पादन कर रहे तेल मिल व्यवसासियों के खिलाफ भी कार्रवाही होगी।

आज विद्युत प्रवाह बंद रहेगा
मुरैना 12 फरवरी 2021/ विद्युत मंडल के उपमहाप्रबंधक श्री पी.एस. तोमर ने बताया कि 132 केव्ही मुरैना से निकलने वाले 33 केव्ही वीरमपुरा फीडर पर लाइन शिफ्ंिटग का कार्य कराये जाने के कारण 13 फरवरी को सुबह 11 बजे से सायं 4 बजे तक 33 केव्ही अरहैला, हरगांगोली, श्यारू, खेरिया, तालपुरा, चन्द बाई का पुरा, गुर्जा पुरा, फैली पुरा, सांटा, कांस पुरा, अहमद पुर, हडवांसी, नाहरदौंकी, उम्मेदगढ़, लोंगट आदि गांव प्रभावित रहेंगे।

शिक्षा कार्य में किसी भी कोताई बर्दाश्त नहीं – कलेक्टर श्री कार्तिकेयन
कलेक्टर की अध्यक्षता में समग्र शिक्षा अभियान की समीक्षा बैठक संपन्न
मुरैना 12 फरवरी 2021/ बोर्ड परीक्षाओं के लिये दो माह का समय शेष है, इन दो माहों में शिक्षक नैतिक दायित्वों का निर्वहन करें और बच्चों को अच्छी शिक्षा ग्रहण करायें, जिससे आने वाली बोर्ड परीक्षाओं में बच्चे अच्छा परफार्मेंस प्रस्तुत कर जिले का नाम प्रदेश की सूची में टाॅप-5 में पहुंचे। शिक्षक शिक्षा कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतें। ये निर्देश कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने शुक्रवार को नवीन कलेक्ट्रेट के सभागार में समग्र शिक्षा अभियान की समीक्षा बैठक के दौरान शिक्षकों को दिये। इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत श्री रोशन कुमार सिंह, अपर कलेक्टर श्री उमेशप्रकाश शुक्ला, जिला शिक्षाधिकारी श्री सुभाष शर्मा, डीपीसी श्री मुन्नालाल तोमर, जिले के समस्त बीईओ, बीआरसी और प्राचार्य उपस्थित थे।
कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने शिक्षा से जुड़े अधिकारियों को दो टूक शब्दों में कहा है कि बोर्ड परीक्षायें नजदीक है, कोरोना काल में पिछली मार्च से शिक्षकों ने छात्रों को किसी भी प्रकार का अध्यापन कार्य नहीं कराया है, क्योंकि स्कूल बंद थे। बहुत कम छात्रों ने आॅनलाइन जुड़ने के बाद कहीं तैयारियां जरूर की होंगी, किन्तु अब स्कूल खुल चुके है। दो माह में बच्चों को इस प्रकार की तैयारियां करायें कि बच्चे उत्कृष्ट होकर प्रदेश में मुरैना का नाम रोशन करें।
कलेक्टर श्री कार्तिकेयन ने कहा है कि जिले में 64 जनशिक्षा केन्द्र है, माध्यमिक विद्यालय 259 है। जिसमें से प्राथमिक विद्यालयों की संख्या 1537 है। जिसमें कुल स्टाफ 7 हजार 52 है। इसको देखते हुये अधिकतर स्टाफ पूर्ण है, जहां कहीं भी विषयवार शिक्षक कम होंगे, वहां अतिथि शिक्षक रखने का भी प्रावधान है। इसके बावजूद भी पढ़ाई का स्तर कम नहीं होना चाहिये। सभी छात्रों को पुस्तक मिल चुकीं होंगी। मेरे द्वारा निरीक्षण में यह शब्द नहीं आना चाहिये कि बच्चों के पास पुस्तक नहीं है। कलेक्टर ने कहा कि शिक्षकों को डोर टू डोर सर्वे करने के बाद दाखिला दिलाना है। बच्चा जिस कक्षा से उत्तीर्ण हुआ है, वह बच्चा अगली कक्षा में शतप्रतिशत प्रवेश लें ऐसे बच्चों का चिन्हांकन करें, जो किन्ही कारण स्कूल नहीं जा रहे है या स्कूल में दाखिला नहीं लिया है। उसका कारण सहित रजिस्टर संधारित करें। कलेक्टर ने कहा कि जिले में 4 हजार 679 ऐसे बच्चे है, जिनका समग्र आईडी नहीं होने के कारण दाखिला नहीं हो सका। इस प्रकार की जानकारी निकालकर डीपीसी और जिला शिक्षाधिकारी टीएल बैठक में लेकर आये, जिससे उनकी समग्र आईडी बनवाने की पहल की जावे। सारणी में प्रायः देखने में आया है कि आठवीं के बाद शतप्रतिशत बच्चे नवीं में प्रवेश नहीं करते है। नौवीं के बाद शतप्रतिशत दसवीं में प्रवेश नहीं करते है और दसवीं में उत्तीर्ण होनें केे बाद 11वीं में प्रवेश नहीं लेते है, उन बच्चों का सर्वे करें ये बच्चे अधूरी पढ़ाई क्यों छोड़ देते है या शहर से अन्य किसी स्थान पर दाखिला लेते है। यह जानकारी रखना अतिआवश्यक है।
कलेक्टर ने कहा कि हमारा घर हमारा विद्यालय, हमारा घर हमारा विद्यालय कार्यक्रम कक्षा 1 से 8 में संचालन की योजना, प्रदेश में मुरैना जिले की स्थिति, जिले में विकासखण्डवार की स्थिति, कक्षा से 8 तक दूरदर्शन पर प्रशारित शैक्षणिक कार्यक्रम, प्रतीभा पर्व, सीएम राइज स्कूल विकासखण्डवार शिक्षा, व्यवासायिक शिक्षा, पिछले बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम, निःशुल्क पाठ्यपुस्तक वितरण, छात्रावासों की जानकारी, बालिका छात्रावास, सीडब्ल्यूएसएन छात्रावास, सर्व शिक्षा अभियान के तहत निर्माण कार्यो की समीक्षा आदि पर विस्तार से चर्चा की गई।

मुरैना जिले में माफियों के विरूद्ध सघन अभियान चलाने के लिये अनुविभाग स्तर पर दल गठित
मुरैना 12 फरवरी 2021/ प्रदेश सरकार के निर्देश पर माफियाओं के विरूद्ध सघन अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के सफल क्रियान्वयन एवं समन्वय के लिये मुरैना जिले में अनुविभाग स्तर पर कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री बी. कार्तिकेयन ने 5-5 अधिकारियों का दल गठित किया है।
जिसमें अनुविभाग सबलगढ़ के लिये एसडीएम सबलगढ़ सुश्री अंकिता धाकरे को नियुक्त किया है, इनका मोबाइल नम्बर 8120861501 है। इनके साथ एसडीओपी सबलगढ़ श्री गुरूवचन सिंह इनका मोबाइल नम्बर 9893140274 है। एडीओ श्री सतेन्द्र पाराशर दल में रहेंगे, इनका मोबाइल नम्बर 9009992368 है। कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी श्री अभिषेक दुबे रहेंगे, इनका मोबाइल नम्बर 8435850251 है। खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री महेन्द्र कुमार सिरोहिया दल में रहेंगे, इनका मोबाइल नम्बर 9131178307 है।
इसी प्रकार अनुविभाग जौरा के लिये एसडीएम जौरा श्री नीरज शर्मा को नियुक्त किया है, इनका मोबाइल नम्बर 9826248644 है। इनके साथ डीएसपी मुख्यालय श्री अनिल ठाकुर इनका मोबाइल नम्बर 9893109262 है। उप निरीक्षक आबकारी श्री राकेश मण्डलो इनका मोबाइल नम्बर 9993750147 है। कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी जौरा श्री जितेन्द्र सिंह राजावत इनका मोबाइल नम्बर 7489105515 है। खाद्य सुरक्षाधिकारी कु. रेखा सोनी इनका मोबाइल नम्बर 9755242442 है। अनुविभाग मुरैना के लिये एसडीएम मुरैना श्री आरएस बाकना को नियुक्त किया है, इनका मोबाइल नम्बर 9575631919 है। इनके साथ सीएसपी सुश्री प्रियंका मिश्रा इनका मोबाइल नम्बर 9584941164 है। एडीओ श्री नंदकिशोर पारिख इनका मोबाइल नम्बर 7999618445 है। कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी श्री संजीव शर्मा इनका मोबाइल नम्बर 9669259191 है। खाद्य सुरक्षाधिकारी श्री अनिल प्रताप सिंह परिहार इनका मोबाइल नम्बर 9926238372 है, दल में रहेंगे। अनुविभाग अम्बाह के लिये एसडीएम अम्बाह श्री राजीव समाधिया को नियुक्त किया है, इनका मोबाइल नम्बर 7747005151 है। इनके साथ एसडीओपी अम्बाह श्री अशोक जादौन दल में रहेंगे, इनका मोबाइल नम्बर 9179980253 है। उपनिरीक्षक आबकारी श्री सुनील सेमिर रहेंगे, इनका मोबाइल नम्बर 6263940740 है। कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी अंबाह श्री उमेश शर्मा रहेंगे, इनका मोबाइल नम्बर 8602684950 है। खाद्य सुरक्षाधिकारी मुरैना श्री अवनीश गुप्ता दल में रहेंगे, इनका मोबाइल नम्बर 7987505543 है।

यह दल अवैध उत्खनन, भण्डारण, परिवहन, खाद्य अपमिश्रण, सार्वजनिक वितरण प्रणाली एवं शासकीय भूमि पर अवैध अतिक्रमण तथा बिना लायसेंस भूमि के व्यपरिवर्तन पर कठोर कार्रवाही का प्रति सप्ताह सोमवार 10.30 बजे अधोहस्ताक्षरकर्ता को जानकारी प्रस्तुत करेंगे।
केन्द्र पर वैक्सीन टीके लगाने की व्यवस्था
मुरैना 12 फरवरी 2021/ स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड-19 के टीकाकरण के लिये मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. आर सी बांदिल एवं सिविल सर्जन डाॅ ए के गुप्ता ने बताया कि कोविड-19 के टीकाकरण के लिये जिले में केन्द्र बनाये गये हैं। इन केन्द्रो पर टीका लगने के पहले और बाद में पोर्टल पर एन्ट्री की जायेगी। प्रवेश द्वार पर गार्ड एसएमएस देख कर ही एन्ट्री देगा। प्रतीक्षा कक्ष में दूसरे नंबर पर प्रमाणित करने वाला रहेगा जो हितग्राही को इन्ट्री करेगा और पहचान पत्र दर्ज करेगा। उसके बाद तीसरे नंबर पर सिस्टर टीका लगाकर उसकी और पोर्टल पर इन्ट्री करेगी। चैथा नंबर पर आॅवर्जवेशन में आधा घंटा बैठाया जायेगा और उसकी माॅनीटरिंग की जायेगी। एन्ट्री के बाद व्यक्ति को तुरंत एसएमएस आयेगा जिसमें आगामी निर्देश दिये गये होंगे और आधा घंटा बाद जाने दिया जायेगा। एक केन्द्र पर एक दिन में 100 लोगों को टीके लगाये जायेंगे।

मंथन-2021 में बनेगा स्वास्थ्य सेवाओं में आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश का रोडमैप
मुख्यमंत्री श्री चैहान के नेतृत्व में होगा आयोजन
मुरैना 12 फरवरी 2021/वर्तमान परिदृश्य में तेजी से बदलती चिकित्सकीय आवश्यकताओं, शैक्षणिक प्रगति और तकनीकी क्रांति के बीच, प्रदेश की चिकित्सा शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं को आत्म-निर्भर बनाने के लिए भोपाल में दो दिवसीय मंथन-2021 का आयोजन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान के नेतृत्व में मार्च 2021 में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम की रूपरेखा पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास कैलाश सारंग द्वारा मंत्री-मंडल के समक्ष प्रस्तुतिकरण दिया गया।
शोधकर्ता, चिकित्सक से लेकर वार्ड बॉय तक होंगे सम्मिलित
मुख्यमंत्री श्री चैहान के सम्मुख हुए प्रस्तुतिकरण में जानकारी दी गई कि मंथन-2021 में प्रदेश में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएँ सुनिश्चित करने के लिए ईज ऑफ हेल्थ सर्विसेज के प्रमुख संकेतक निर्धारित किए जाएंगे। इसमें चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े उच्च अधिकारियों से लेकर वार्ड बॉय, सुरक्षाकर्मी, प्राइवेट संस्थान के प्रतिनिधि तथा विषय-विशेषज्ञ शामिल होंगे। चिकित्सा शिक्षक, चिकित्सक, शोधकर्ता, वैज्ञानिक, चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े प्रोजेक्ट मैनेजर और वित्तीय सलाहकार, पैरामेडिकल क्षेत्र के प्रतिनिधि, चिकित्सकीय सामाजिक कार्यकर्ता, स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि भी मंथन-2021 में शामिल होंगे। साथ ही यूनिसेफ, डब्लू.एच.ओ. और बल्ड बैंक जैसी अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं के प्रतिनिधि भी सहभागिता करेंगे।
8 समूह करेंगे विचार-मंथन
चिकित्सा क्षेत्र के समग्र विकास के लिए रोडमैप तैयार करने के उद्देश्य से चिकित्सा शिक्षा, शोध और स्वास्थ्य से संबंधित 8 विषयों को शामिल किया गया है। इन विषयों पर 8 समूहों का गठन किया जाएगा। प्रत्येक समूह में 10 से 12 प्रतिभागी होंगे। प्रत्येक समूह परस्पर चर्चा और सुझाव के बाद अपना प्रस्तुतिकरण देगा। इन सुझावों और विचारों के आधार पर आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए आगामी तीन वर्षों का रोडमैप तैयार किया जाएगा।
मंथन-2021 के प्रमुख 8 विषय
5 हजार 496 क्विंटल बाजरा संबंधित किसानों द्वारा वापस ले लिया है
मुरैना 12 फरवरी 2021/ जिले में बाजरा खरीदी केन्द्रों पर बाजरा खरीद की तिथि समाप्त हो जाने के पश्चात् कुछ किसानों का 9 हजार 381 क्विंटल बाजरा रखा गया था। इस संबंध में शासन को अवगत कराया, किन्तु शासन द्वारा उक्त बाजरा को समर्थन मूल्य पर लेने की अनुमति नहीं दिये जाने के कारण 5 हजार 496 क्विंटल बाजरा संबंधित किसानों द्वारा वापस ले लिया गया है। शेष 3 हजार 885 क्विंटल बाजरा संबंधित किसानों को वापस किया जा रहा है।
यह जानकारी कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन द्वारा 1 फरवरी 2021 को एक दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित ’’9 हजार क्विंटल बाजरा की एन्ट्री नहीं, सोसायटी संचालक किसानों से बोले वापस ले जाओ’’ शीर्षक से प्रकाशित खबर के संदर्भ में दी गई है।
6 हजार 675 किसानों का हुआ पंजीयन
इसी तरह एक दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित गेहूं खबर के संदर्भ में वस्तुस्थिति स्पष्ट करते हुये कलेक्टर श्री कार्तिकेयन ने बताया कि रबी विपणन वर्ष 2021-22 में किसान पंजीयन के लिये पत्र क्रमांक 137 दिनांक 22 जनवरी 2021 से जिले में 56 पंजीयन केन्द्र स्थापित किये गये है, तथा एमपी किसान एप ई-उपार्जन मोबाइल एप पब्लिक डोमेन में ई-उपार्जन पोर्टल पर विगत वर्ष के रबी उपार्जन केन्द्रों पर किया जा रहा है। 11 फरवरी को 54 पंजीयन केन्द्रों पर आॅनलाइन कियोस्क सेन्टरों द्वारा गेहूं, सरसों एवं चना के कुल 6 हजार 675 पंजीयन किये जा चुके है।

शासकीय रकवा लगभग 4-5 बीघा जमीन ए.बी. रोड़ लगा हुआ क्षेत्र का चिन्हांकन कर सूचित करें
मुरैना 12 फरवरी 2021/ मुरैना जिले में खनिजों के अवैध उत्खनन, परिवहन की रोकथाम के लिये चंबल नदी के पहले एक शासकीय भूमि का चयन किया जाकर लगभग 4-5 बीघा जमीन चिन्हांकन कर आरक्षित किया जाना है। जहां पर आर.एफ.आई.डी. सिस्टम स्थापित कर वाहनों की चैकिंग की जा सके, साथ ही एक डिपो भी बनाया जाना प्रस्तावित है। जिसमें खनिजों के अवैध परिवहन में लिप्त वाहनों को सुरक्षा की दृष्टि से खड़ा किया जा सके।
चंबल नदी से पूर्व मुरैना जिले की सीमा में कोई शासकीय रकवा लगभग 4-5 बीघा जमीन एबी रोड़ लगा हुआ क्षेत्र का चिन्हांकन कर सूचित करें। जिससे की आगामी कार्रवाही कलेक्टर के मार्गदर्शन में की जा सके। यह जानकारी खनिज शाखा के प्रभारी खनिज अधिकारी ने दी है।

अप्रेंटिस पदों पर भर्ती आवेदन आमंत्रित
मुरैना 12 फरवरी 2021/रेल्वे रिकूटमेंट सेल ने अप्रेंटिस के कुल 2552 पदो पर भर्ती हेतु नोटिफिकेशन जारी किया गया है। इन पदो के चयन हेतु कक्षा दसवी 50 प्रतिशत मार्कस के साथ साथ एनसीबीटी द्वारा मान्यता प्राप्त आई.टी.आई. से डिप्लोमा एवं आयु सीमा 15 से 24 वर्ष निर्धारित की गई है आवेदन 5 मार्च 2021 तक किये जा सकते हैं। आवेदन हेतु आफिशियल वेबसाइट ततबबतण्बवउ के जरिए आवेदन किया जा सकता है।

  1. चिकित्सा शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए प्रकल्प तैयार करना।
  2. चिकित्सा छात्र, चिकित्सक और अन्य संवर्गों के कल्याण के लिए मानक तय करना।
  3. नागरिकों के लिए बेहतर सुविधाएँ सुनिश्चित करने के लिए ईज ऑफ हेल्थ के संकेतक निर्धारित करना।
  4. पेशेंट सेफ्टी एवं चिकित्सा सेवाओं की गुणवत्ता के लिए मानक तय करना।
  5. नवीनतम आई.टी. एवं ए.आई. आधारित तकनीक और चिकित्सा यांत्रिकी के उपयोग को प्रोत्साहन।
  6. चिकित्सकीय मानव संसाधन की क्षमता वृद्धि एवं अधोसंरचना विकास के आयाम का निर्धारण।
  7. सामाजिक समावेश, सहभागिता, सीएसआर एवं पीपीपी मॉडल को चिकित्सकीय क्षेत्र में आत्मसात करना।
  8. प्रदेश में मेडिकल रिसर्च को बढ़ावा देना।
    इसके अलावा चिकित्सकीय शोध को चिकित्सा करिकुलम के साथ जोड़ने, रूरल हेल्थ रिसर्च, मूल्य आधारित चिकित्सा पद्धति को आत्मसात करने के लिए मेडिकल एथिक्स मापदंड को निर्धारित करने और राष्ट्रीय शोध संस्थानों आईसीएमआर, डीआरडीओ, डीबीटी, सीएसआईआर के साथ शोध समन्वय की दिशा में भी प्रयास होंगे।
  9. जच्चा-बच्चा देखभाल के उद्देश्य से संचालित है प्रधानमंत्री मातृवंदना योजना
  10. मुरैना 12 फरवरी 2021/गर्भावस्था, प्रसव और स्तनपान के दौरान महिलाओं को जागरूक करना और जच्चा-बच्चा देखभाल और संस्थागत सेवा के उपयोग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री मातृवंदना योजना संचालित की जा रही है। योजना के तहत महिलाओं को पहले छह महीनों के लिए प्रारंभिक और विशेष स्तनपान और पोषण प्रथाओं का पालन करने की समझाईश दी जाती है तथा गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को बेहतर स्वास्थ्य और पोषण के लिए नकद प्रोत्साहन प्रदान किया जाता है।
  11. किसे मिलेगा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ
  12. सभी गर्भवती महिलाएं एवं स्तनपान कराने वाली माताएं प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ लेने के लिए पात्र मानी गई हैं। योजना का लाभ पाने के लिए जरूरी है कि महिला की उम्र 19 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए। सरकारी कर्मचारी, किसी अन्य कानून से लाभ पा रही प्राइवेट कर्मचारी या फिर पहले सभी किस्तें पा चुकी महिलाओं को योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।
  13. तीन किस्तों में मिलती है मदद राशि
  14. इस योजना से गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को पहले जीवित बच्चे के जन्म के दौरान फायदा होगा। योजना की लाभ राशि डीबीटी के माध्यम से लाभार्थी के बैंक खाते में सीधे भेज दी जाएगी। पहली किस्त 1000 रुपए गर्भावस्था के पंजीकरण के समय दी जाएगी। दूसरी किस्त 2000 रुपए, यदि लाभार्थी छह महीने की गर्भावस्था के बाद कम से कम एक प्रसवपूर्व जांच कर लेते हैं। इसी प्रकार तीसरी किस्त 2000 रुपए, जब बच्चे का जन्म पंजीकृत हो जाता है और बच्चे को बीसीजी, ओपीव्ही, डीपीटी और हेपेटाईटिस-बी सहित पहले टीके का चक्र शुरू होता है ।
  15. कैसे करें आवेदन
  16. आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का संचालन किया जाता है। महिलाएं वहां जा कर इस योजना के लिए पंजीकरण करा सकती हैं। स्वास्थ्य सुविधा केंद्रों पर भी इस योजना के लिए पंजीकरण कराया जा सकता है। इसमें आशा कार्यकर्ता मदद करती हैं।
  17. आवेदन के लिए जरूरी दस्तावेज
  18. प्रधानमंत्री मातृवंदना योजना के लिए हितग्राही को आधार कार्ड की फोटोकॉपी, बैंक या पोस्ट ऑफिस खाता की पासबुक, पीएचसी या सरकारी अस्पताल से जारी स्वास्थ्य कार्ड, सरकारी विभाग, कंपनी, संस्थान से जारी कर्मचारी पहचान पत्र प्रस्तुत करना होता है।
  19. शासकीय कार्यक्रम बेटियों की पूजा से आरंभ किये जायेंगे
  20. मुरैना 12 फरवरी 2021/राज्य शासन ने शासकीय कार्यक्रम बेटियों की पूजा से आरंभ किये जाने का निर्णय लिया है। इस संबंध में मध्यप्रदेश शासन के सामान्य प्रशासन विभाग ने निर्देश जारी किये हैं। उन्होेंने सभी विभागों के जिला प्रमुखों को निर्देशित किया है कि जब भी शासकीय कार्यक्रम किये जावें, उस कार्यक्रम का प्रारंभ बेटियों की पूजा से किया जाना सुनिश्चित करें।


’परिवहन विभाग द्वारा मोटरयान कर में मिलेगी भारी छूट’
मुरैना 12 फरवरी 2021/मध्यप्रदेश शासन परिवहन विभाग द्वारा मोटरयान कर एवं शास्ति के भुगतान के संबंध में छूट प्रदान की गई थी। उक्त समय सीमा को बढाकर 31 मार्च 2021 तक की वृद्धि कर दी गई है। पूर्व में वाहनों पर बकाया मोटरयान कर का एक मुश्त भुगतान करने पर अधिसूचना की तारीख से पांच वर्ष तक पुराने वाहनों पर 20 प्रतिशत, पांच वर्ष से अधिक किंतु 10 वर्ष से अनाधिक पुराने वाहनों पर 40 प्रतिशत, 10 वर्ष से अधिक किंतु 15 वर्ष से अनाधिक पुराने वाहनों पर 50 प्रतिशत एवं 15 वर्ष से अधिक पुराने वाहनों पर 70 प्रतिशत तक की छूट प्रदान की जा रही है। उन्होंने बताया कि पंजीयन दिनांक से 20 वर्ष की अवधि पूर्ण कर चुके पथ भ्रष्ट यानों पर एक मुश्त बकाया जमा करने एवं वाहन का पंजीयन निरस्त कराने की शर्त पर 90 प्रतिशत की छूट प्रदान की जा रही है। उक्त छूट की समय-सीमा 31 मार्च 2021 तक वैध तथा प्रभावशाली रहेगी। जिन वाहनों पर पूर्व का मोटरयान कर एवं शास्ति बकाया है वे कार्यालय जिला परिवहन अधिकारी से संपर्क कर शासन द्वारा प्रदान की जा रही छूट का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

अम्बाह स्थित अवैध काॅलोनियां पर सड़कों का किया गया जमींदोज
मुरैना 12 फरवरी 2021/ कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन के निर्देशन में एसडीएम अम्बाह श्री राजीव समाधिया ने अंबाह में अवैध कालोनियों पर कार्यवाही की है। गल्ला मंडी अंबाह के पीछे स्थित कालोनी पर एसडीएम के मार्गदर्शन में तहसीलदार राजकुमार नागोरिया एवं मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री रामनिवास शर्मा के द्वारा राजस्व अमला, नगर पालिका अमला, एवं पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचकर अवैध कॉलोनियों के विरुद्ध कार्यवाही की गई। यह अवैध कालोनिया तहसील अंबाह के भूमि सर्वे क्रमांक 1982 रकबा 0.387 खसरा नंबर 1983 रकबा 0.366 एवं खसरा नंबर 1973ध्3 रकबा 0.254हेक्टेयर में स्थित तीन कॉलोनीयां है। जिस पर हिटेची चलाकर अवैध सड़कों को तोड़कर नष्ट किया। एसडीएम ने बताया कि तीनों अवैध कॉलोनियों को 3 दिन पूर्व ही दस्तावेज प्रस्तुत करने की नोटिस दिए गए थे, समय सीमा में किसी की भी द्वारा कोई दस्तावेज प्रस्तुत नहीं किए गए, ना ही नोटिस का जवाब दिया गया। इस कारण से प्रशासन के द्वारा अवैध कालोनियों के ऊपर कार्यवाही की गई। जिसमें मौके पर बनी हुई सड़क को उखाड़ दिया गया एवं मौके पर अवैध कॉलोनी का चिन्हाकन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort