• Wed. May 25th, 2022

किसी भी मतदान केन्द्र से पाॅलिंग पार्टी की शिकायत नहीं मिलनी चाहिये – जिला सीईओ

Byadmin

Oct 28, 2020

किसी भी मतदान केन्द्र से पाॅलिंग पार्टी की शिकायत नहीं मिलनी चाहिये – जिला सीईओ
1 नवम्बर तक सभी मतदान केन्द्रों पर आवश्यक सुविधायें मुहैया करायें
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/विधानसभा उपनिर्वाचन 2020 के लिये मतदान 3 नवम्बर को होना है। मतदान संपन्न कराने के लिये मतदान दल 2 नवम्बर को अपने-अपने मतदान केन्द्रों पर दोपहर तक पहुंच जायेंगे। मतदान केन्द्रों पर विद्युत, पेयजल, रैम्प, टेन्ट, व्हीलचेयर, पैट्राॅमैक्स, फर्नीचर, फर्स, गद्दे, कबंल आदि की व्यवस्थायें सुनिश्चित कर अधिकारी 1 नवम्बर को अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों के मतदान केन्द्रांे की सूची बनाकर प्रमाणपत्र पहुंचाये। यह निर्देश जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री तरूण भटनागर ने मंगलवार को नवीन जिला पंचायत भवन में नगरीय निकाय एवं जनपद सीईओ को दिये। इस अवसर पर आयुक्त नगर निगम श्री अमरसत्य गुप्ता, शिक्षा, पीडब्ल्यूडी, समस्त जनपद सीईओ एवं नगरीय निकायांे के सीएमओ उपस्थित थे।

जिला सीईओ श्री तरूण भटनागर ने कहा कि सभी अधिकारी अपने-अपने दायित्वों को प्राथमिकता के साथ 1 नवंबर तक मतदान केन्द्र पर आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कई मतदान केन्द्र ऐसे है जहां अभी भी विद्युत व्यवस्था करना शेष है। उन मतदान केन्द्रों पर आसपास से वायरिंग कराकर विद्युत पहुंचाये। इसके अलावा लाइट जाने पर पैट्राॅमैक्स का प्रबंध रहे। मतदान केन्द्रों पर पाॅलिंग पार्टियों के पहंुचने से पूर्व आवश्यक व्यवस्था पूर्ण कर ली जाये।
पानी का प्रबंध
जिला सीईओ श्री भटनागर ने कहा कि मतदान केन्द्रों पर पाॅलिंग पार्टियों के लिये पीने एवं नहाने के लिये पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध रहे। इसके लिये मटके तथा हेण्डपम्प न होने पर टेंकरों का प्रबंध करें।
रैम्प/व्हीलचेयर
जिला सीईओ ने कहा कि कई मतदान केन्द्र ऐसे थे, जिन पर रैम्प बने हुये है, किन्तु वे रैम्प मानक के अनुसार नहीं है। दिव्यांग की व्हीलचेयर पहुंचने में असुविधा न हो। उसे दुरूस्त करायें। उन्होंने कहा कि जिन मतदान केन्द्रों के अन्तर्गत दिव्यांग या 80 वर्ष से अधिक मतदाता है। उन्हें मतदान कराने के लिये उस मतदान केन्द्र पर व्हीलचेयर उपलब्ध रहे।
टेन्ट
जिला सीईओ ने नगरीय निकाय एवं जनपद सीईओ को निर्देश दिये कि मतदान केन्द्रों पर टेन्ट, बैठने के लिये कुर्सियांे की संख्या 8 से 10 उपलब्ध रहे। जिससे धूप से बचने के लिये सहायक मतदान केन्द्र पर 8 से 10 या बड़े मतदान केन्द्र पर 16 से 20 का टेन्ट लगवायें एवं आवश्यक गद्दे, कंबल का प्रबंध करें।
मतदान दलों के लिये भोजन का प्रबंध
जिला सीईओ ने निर्देश दिये कि मतदान दल 2 नवम्बर को दोपहर बाद मतदान केन्द्रों पर पहुंच जायेंगे। उनके लिये रात्रि का भोजन, 3 नवम्बर को सुबह का नाश्ता, दोपहर का भोजन और सायं मतदान समाप्ति के पहले चाय, बिस्कुट का प्रबंध करें। इसके लिये स्व-सहायता समूह या ग्राम पंचायत के सचिव, जीआरएस व्यवस्थायें करें।

प्रत्येक मतदान केन्द्र पर गोले बनाये
जिला सीईओ श्री तरूण भटनागर ने कहा कि कोविड को ध्यान में रखते हुये सोशल डिस्टेसिंग का पालन किया जाना है। इसके लिये प्रत्येक मतदान केन्द्र पर चूना या पैन्ट से गोले बनाये जायें। इसके साथ ही प्रत्येक मतदान केन्द्र पर एक स्वच्छता कर्मी रहेगा, जो आने वाले मतदाताओं की थर्मल स्क्रीनिंग करेगा। इसलिये उसके बैठने का प्रबंध मतदान केन्द्र के बार छाया में कुर्सी टेबल लगाकर किया जावे।
प्रत्येक मतदान केन्द्र पर वैटिंग कक्ष रहेगा
कोविड को ध्यान में रखते हुये प्रत्येक मतदान केन्द्र पर टेंन्ट एवं कुर्सियों का प्रबंध किया जाये। कई मतदाताओं का किन्हीं कारण बस तापमान अधिक आता है तो उन्हें कुछ समय के लिये वैटिंग कक्ष में बिठाने की सुविधा मिलनी चाहिये। कुछ समय बाद उसका तापमान कम हो सके और वह मतदान कर सकेगा।
मतदान केन्द्र पर झूला घर रहेगा
कई महिला मतदाता मतदान करने के लिये आयेंगी, जिनके पास बहुत छोटी उम्र्र के बच्चे भी साथ में आ सकते है, उन बच्चों के लिये खेलने के लिये खिलौने एवं झूला घर का प्रबंध किया जाये। जिससे आवश्यकतानुसार बच्चे खेल सकें और उनके मातायें अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें।

शहरी मतदान केन्द्रों पर दो पुरूष एवं दो महिलायें रहेंगी मतदान दल में
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/ मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री तरूण भटनागर ने नगरीय निकाय के अधिकारियों को निर्देश दिये है कि विधानसभा उपनिर्वाचन 2020 मंे नगरीय क्षेत्र के मतदान केन्द्रों पर पाॅलिंग पार्टी मंे 2 पुरूष एवं 2 महिलायें शामिल रहेंगी। महिलाओं को ध्यान में रखते हुये मतदान केन्द्र पर दो रूम का प्रबंध किया जाये। जिसमें 1 रूम में पुरूष एवं दूसरे रूम में महिलाओं को रखा जाये। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों में जो महिलायें मतदान दल में लगेंगी, वे महिलायें पूरी सुरक्षा के साथ मतदान केन्द्र पर रूकंेगी। उन्हें किसी रिश्तेदार के यहां नहीं जाने दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि हो सकता है, वो महिला किसी रिश्तेदार के यहां रूकने के लिये जाने चाहती है, वो किसी जनप्रतिनिधि या किसी पार्टी दल से सम्बन्धता रखता हो।

बंदियों के परिजन 1 नवंबर से जेलों में मुलाकात कर सकेंगे
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/राज्य शासन ने जेलों में परिरूद्ध बंदियों की उनके परिजनों से मुलाकात को 1 नवम्बर से प्रारंभ करने की स्वीकृति प्रदान की है। अब जेलों में परिरूद्ध बंदियों के परिजन जेलों में जाकर उनसे मुलाकात कर सकेंगे। उल्लेखनीय है कि राज्य शासन ने 21 अगस्त 2020 को जेलों में कोरोना वायरस बीमारी से बचाव हेतु बंदियों की परिजनों से मुलाकात को 31 अक्टूबर तक प्रतिबंधित किया था। शासन द्वारा जारी परिपत्र अनुसार बंदियों की परिजनों से मुलाकात के दौरान कोरोना वायरस से बचाव संबंधी राज्य सरकार के निर्देशों का पालन अनिवार्य रूप से करना होगा।

3 नवम्बर को भयमुक्त होकर करें मतदान – जिला निर्वाचन अधिकारी
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अनुराग वर्मा ने सोमवार को दिमनी विधानसभा क्षेत्र के करीबन 6 मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया। जिसमें रथोल का पुरा, कचनोधा, कुथियाना, शिकारी का पुरा, श्यामपुर और ऐसाह ग्राम के मतदान केन्द्रों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों के तहत मतदान केंद्रों पर पर्याप्त व्यवस्थायें की गयी है, जिसमे रैम्प, लाइट, प्रकाश, डबल गेट आदि। इसके साथ ही कोविड-19 से बचने के लिए मतदान केन्द्रों पर पुख्ता प्रबंध किये जा रहे है। 3 नवम्बर को सभी लोग भयमुक्त होकर मतदान करें। यह बात उन्होनें निरीक्षण के दोरान ग्रामीणों से कही।
उन्होनें कहा कि पर्याप्त पुलिस बल चुनाव में प्रत्येक मतदान केंद्र पर उपलब्ध रहेगा। इसके अलावा अन्य सेक्टर ऑफीसर, माइक्रो आॅब्जर्वर, सहायक रिटर्निंग आफीसर, अन्य पुलिस मोवाइल टीम के अलावा अन्य अधिकारी भ्रमण पर रहेगे। जो प्रत्येक मतदान केन्द्र पर सतत संपर्क में रहेंगे। यह अधिकारी 10 से 12 मिनट के अंदर प्रत्येक मतदान केंद्र पर भ्रमण करेंगे। सभी लोग अधिक से अधिक मतदान करें, मतदान सभी का अधिकार ही नही बल्कि कर्तव्य भी है।
कलेक्टर ने कहा कि मतदान के दिन निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशांे के तहत कोविड-19 से बचने के लिए प्रत्येक मतदान केंद्र पर जिला प्रशासन द्वारा पुख्ता प्रबंध किए हैं, किसी भी प्रकार की मतदाताओं को असुविधा नहीं होगी। सभी मतदान करें।
पुलिस अधीक्षक श्री अनुराग सुजानिया ने कहा कि चुनाव के दिन सभी मतदाता निडर होकर मतदान करें। चुनाव आयोग ने उप चुनाव को ध्यान में रखते हुए पर्याप्त पुलिस बल भेजा है और आने वाला है, प्रत्येक वल्नरेवल व क्रिटिकल मतदान केंद्र पर कमाण्डो तैनात रहेंगंे। किसी के दवाव में या किसी के प्रलोभन मे आकर मतदान न करे। सभी भयमुक्त होकर मतदान करें।

(विधानसभा उप निर्वाचन-2020)
बाहरी व्यक्तियों को छोड़ना होगी मुरैना जिले की पांचों विधानसभा क्षेत्रों की सीमा
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/विधानसभा उप निर्वाचन 2020 मुरैना जिले की पांचों विधानसभा क्षेत्रों में 3 नवम्बर को होगा। इसके पूर्व विधानसभा क्षेत्र 04 जौरा, 05 सुमावली, 06 मुरैना, 07 दिमनी और 08 अंबाह में मतदान को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण संपन्न होनेे के लिये कलेक्टर एवं जिला मजिस्टेªट श्री अनुराग वर्मा ने दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अंतर्गत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया है।
जारी निर्देशानुसार कोई भी व्यक्ति, राजनैतिक दल अथवा प्रत्याशी दिनांक 1 नवम्बर, 2020 को सायं 6 बजे के बाद एवं दिनांक 3 नवम्बर, 2020 को सायं 6 बजे अथवा मतदान समाप्त होने तक कालावधि के दौरान निर्वाचन के संबंध में कोई सार्वजनिक सभा, जुलूस रैली न तो आयोजित करेगा और न ही उसमें उपस्थित होगा, न ही संचालित करेगा। विधानसभा क्षेत्र जौरा, सुमावली, मुरैना, दिमनी और अंबाह क्षेत्रान्तर्गत ऐसे व्यक्ति जो पांचों विधानसभा क्षेत्र के निवासी नहीं है वे चुनाव प्रचार के दृष्टिकोण से विधानसभा क्षेत्रों में नहीं रूकंेगे एवं दिनांक 1 नवम्बर, 2020 की सायं 6 बजे तक होने वाले निर्वाचन क्षेत्र की सीमा को छोड़कर चले जायेंगे।
अतः संपूर्ण मुरैना जिले में ऐसे व्यक्ति जो जिले के निवासी नहीं है और चुनाव प्रचार के लिए आये हुए है। वे दिनांक 1 नवम्बर, 2020 की शाम 6 बजे के बाद मुरैना में नहीं रूक सकेंगे।

सीजनल इन्फ्लूएन्जा एच-1 एन-1 के उपचार एवं रोकथाम के लिये निर्देश जारी
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/स्वास्थ्य संचालनालय द्वारा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों और सिविल सर्जनों को निर्देश दिये गये हैं कि मौसम में बदलाव के कारण स्वाईन फ्लू सीजनल इन्फ्लूएन्जा (एच-1 एन-1) के प्रकरण की संभावना होती है। अतः आप आपने जिले में सतर्क रहें एवं संभावित सीजनल इन्फ्लूएन्जा के मरीजों की स्क्रीनिंग, निदान, उपचार व रोकथाम के लिये दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करें। सीजनल इन्फ्लूएन्जा की रोकथाम व उपचार के लिये भारत सरकार द्वारा दी गई गाइडलाइन का पालन व कार्यवाही करवाना सुनिश्चित करें। विशेषकर हाई रिस्क प्रकरणों जैसे कि बच्चों, गर्भवती महिलाओं, किसी भी घातक बीमारी से ग्रसित व्यक्ति के फ्लू होने पर अधिक सतर्क रहें तथा विशेष ध्यान दें और पूर्व में दिये गये निर्देशों के अनुसार उपचार आरंभ करें। जिन स्थानों में एआरआई के प्रकरण ज्यादा आ रहे हैं वहाँ सर्वे करें।
संचालनालय द्वारा निर्देश दिये गये हैं कि जिला, ब्लॉक तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर होने वाली मासिक एवं साप्ताहिक बैठकों में समस्त स्वास्थ्य कर्मियों को सीजनल इन्फ्लूएन्जा की रोकथाम एवं उपचार संबंधी जानकारी से अवगत कराया जाये। प्रतिदिन दो बार फीवर क्लीनिक में सर्दी-खांसी मरीजों की रिपोर्ट राज्य सर्विलेंस इकाई को भेजें तथा क्लीनिक में रिकार्ड कीपिंग के लिये पैरामेडिकल स्टाफ की व्यवस्था की जाये जिनके द्वारा स्क्रीनिंग में संधारण किया जाये जिसके माध्यम से मरीजों का फॉलोअप किया जाना सुनिश्चित करें। मरीजों को सीजनल इन्फ्लूएन्जा की जानकारी के लिये पम्पलेट वितरित किये जायें। सीजनल इन्फ्लूएन्जा के लिये औषधियों एवं सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करें।

कोविड में तनाव से जूझ रहे बच्चों के लिए बाल आयोग ने शुरू की संवेदना टोल फ्री टेली काउंसलिंग
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/कोरोना संक्रमण के चलते मानसिक रूप से प्रभावित हो रहे बच्चों के लिए बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने नई पहल की है। आयोग ने संवेदना नाम से टोल फ्री टेली काउंसलिंग शुरू की है। इसके लिए टोल फ्री नम्बर 1800-1212-830 जारी किया गया है, जिस पर बच्चें कॉल कर विशेषज्ञों से बात कर अपनी समस्या का समाधान पा सकते है।
कोविड-19 के दौरान 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को मानसिक स्वास्थ्य पर गहरा असर पड़ा है। ऐसे बच्चें टोल फ्री नम्बर पर सुबह 10 से 1 बजे तक और दोपहर 3 से रात्रि 8 बजे तक सोमवार से शनिवार अपनी समस्याओं पर विषय विशेषज्ञों, काउंसलर से बात कर सकते है।

31 अक्टूबर को मनाया जाएगा राष्ट्रीय एकता दिवस
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/सरदार वल्लभ भाई पटेल की जन्म-तिथि 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाएगा। सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी आदेश के तहत 31 अक्टूबर राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई जाएगी। एकता, अखण्डता और सुरक्षा की भावना को मजबूती प्रदान करने के लिए राज्य पुलिस और अन्य वर्दीधारी बलों तथा अन्य एजेंसियों द्वारा 31 अक्टूबर की शाम को मार्च पास्ट का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम वेबकास्ट किये जाएंगे, ताकि सभी आमजन इस कार्यक्रम को देख सकें। कार्यक्रम में कोरोना योद्धा जैसे डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी, सफाईकर्मी इत्यादि आमंत्रित होंगे। कार्यक्रम आयोजित करते समय कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित किया जाएगा।

’विशिष्ट भाषा एवं सामान्य भाषा का प्रावधान किया समाप्त’’अब केवल एक ही भाषा का होगा प्रावधान’
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल द्वारा संबंद्धता प्राप्त संस्थाओं में वर्ष 2020-21 से कक्षा 9वीं एवं 11वीं कक्षाओं में अब विशिष्ट भाषा एवं सामान्य भाषा का प्रावधान समाप्त कर दिया है। इनके स्थान पर नई व्यवस्था लागू की गई है, जिसके अंतर्गत विशिष्ट एवं सामान्य भाषा के अलग-अलग पाठ्यक्रम, प्रश्नपत्र न होकर केवल 1 भाषा का प्रावधान सुनिश्चित किया गया है।
माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा जारी विज्ञप्ति अनुसार अब हिंदी विशिष्ट एवं सामान्य के स्थान पर हिंदी भाषा, अंग्रेजी विशिष्ट एवं सामान्य के स्थान पर अंग्रेजी भाषा, संस्कृत विशिष्ट एवं सामान्य के स्थान पर संस्कृत भाषा तथा उर्दू विशिष्ट एवं सामान्य के स्थान पर उर्दू भाषा की गई है। इसी प्रकार शैक्षणिक सत्र 2021-22 से मंडल द्वारा आयोजित हाईस्कूल, हायर सेकेंडरी परीक्षाओं में भी अब विशिष्ट भाषा एवं सामान्य भाषा के स्थान पर अब मात्र संबंधित विषय का उपरोक्तानुसार एक ही प्रश्न पत्र होगा। साथ ही हायर सेकेंडरी के वाणिज्य एवं कला संकाय में अर्थशास्त्र विषय के लिए जनरल बोर्ड सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) अनुसार समान पाठ्यक्रम पाठ्यपुस्तकें लागू की गई है। अर्थशास्त्र विषय का पाठ्यक्रम वाणिज्य एवं कला संकाय के लिए समान रहेगा। इस व्यवस्था के संबंध में मध्यप्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा आदेश जारी किए जा चुके है।

मतदाता परिचय पत्र के अतिरिक्त विकल्प भी होंगे स्वीकार
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/ विधानसभा उप निर्वाचन 2020 के लिए 3 नवम्बर को होने वाले मतदान के दौरान पहचान के लिए फोटोयुक्त परिचय पत्र (ईपिक कार्ड) आवश्यक है। अपरिहार्य कारणों से मतदाता परिचय पत्र उपलब्ध नहीं होने पर निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित विभिन्न विकल्प बताये गये हैं, इन विकल्पों में से किसी एक परिचय पत्र को दिखाकर कोई भी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकता है। इन विकल्पों में आधार कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, बैंक या पोस्ट ऑफिस की फोटोयुक्त पासबुक, श्रम मंत्रालय द्वारा जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, ड्रायविंग लायसेंस, पेनकार्ड, रजिस्ट्रार जनरल ऑफ इंडिया द्वारा एनपीआर के तहत जारी स्मार्ट कार्ड, भारतीय पासपोर्ट, फोटोयुक्त पेंशन दस्तावेज, राज्य या केन्द्र द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी फोटोयुक्त सेवा परिचय पत्र एवं सांसद या विधायक द्वारा जारी अधिकारिक परिचय पत्र शामिल है। ये वैकल्पिक दस्तावेज दिखाकर कोई भी मतदाता मतदान केन्द्र पर वोट दे सकता है। चुनाव आयोग ने यह वैकल्पिक व्यवस्था इसलिए की है कि, कोई भी मतदाता अपने मताधिकार से वंचित न रह सके।


11 लाख 77 हजार 308 मतदाता करेंगे मताधिकार का प्रयोग
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/ जिले में 3 नवम्बर 2020 को होने वाले विधानसभा उप चुनाव में 11 लाख 77 हजार 308 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इनमें 6 लाख 41 हजार 994 पुरूष, 5 लाख 35 हजार 268 महिला और 46 हजार अन्य मतदाता है।
सर्वाधिक 2 लाख 54 हजार 682 मतदाता मुरैना विधानसभा क्षेत्र में है, इनमें 1 लाख 40 हजार 44 मतदाता पुरूष और 1 लाख 14 हजार 621 महिला मतदाता है।
जौरा विधानसभा क्षेत्र में 2 लाख 44 हजार 65 मतदाता है, इनमें 1 लाख 32 हजार 214 पुरूष, 1 लाख 11 हजार 837 महिला और 14 अन्य मतदाता है। सुमावली विधानसभा क्षेत्र में 2 लाख 40 हजार 628 मतदाता है, इनमें 1 लाख 32 हजार 393 पुरूष, 1 लाख 8 हजार 229 महिला और 6 अन्य मतदाता है। दिमनी विधानसभा क्षेत्र में 2 लाख 14 हजार 969 मतदाता है, इनमें 1 लाख 17 हजार 583 पुरूष, 97 हजार 381 महिला और 5 अन्य मतदाता है। अंबाह विधानसभा क्षेत्र में 2 लाख 22 हजार 964 मतदाता है, इनमें 1 लाख 19 हजार 760 पुरूष, 1 लाख 3 हजार 200 महिला और 4 अन्य मतदाता है।

पांचों विधानसभा क्षेत्रों में 24, 25 एवं 26 अक्टूबर तक 1885 कर्मचारियों ने डाक मतपत्र से किया मतदान
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/ विधानसभा उपनिर्वाचन 2020 के लिये मतदान दलों का प्रशिक्षण का कार्य शा.उ.उ.मा.वि. क्रमांक-1 में 24 से 29 अक्टूबर 2020 तक संचालित है। प्रशिक्षण के उपरान्त 1885 कर्मचारियों को डाक मतपत्र के द्वारा विधानसभा वार मतदान करने की सुविधा मुहैया कराई गई है। जिसके प्रभारी जिला शिक्षाधिकारी श्री सुभाष शर्मा है।
जिला शिक्षाधिकारी द्वारा बताया गया कि 24, 25, 26 अक्टूबर 2020 तक प्रशिक्षण में आने वाले कर्मचारियों द्वारा 1885 लोंगो ने डाक मतपत्र लेकर मतदान किया है। जिसमें 04 जौरा विधानसभा क्षेत्र में 509, सुमावली विधानसभा क्षेत्र में 246, मुरैना में 505, दिमनी में 279 और अंबाह विधानसभा क्षेत्र में 346 कर्मचारियों ने अभी तक डाक मतपत्र से मतदान किया है।

3 नवम्बर को होने वाले मतदान के लिये पीले चावल देकर मतदान केन्द्र पर आने के लिये दिया न्यौता
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/ सचिव, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ताओं ने घर-घर जाकर पीले चावल देकर मतदाताओं से 3 नवंबर को मतदान केन्द्र पर आने का न्यौता दे रहे है। जिसमें वे मतदाताओं से अपील भी कर रहे है कि आप मतदान अवश्य करंे मतदान आपका अधिकार भी है। पीले चावल देने का कार्य सुमावली विधानसभा के अन्तर्गत आने वाली सभी पंचायतों में बूथ अवेयर नेस ग्रुप के सदस्यों द्वारा घर-घर जाकर वृद्ध, दिव्यांग, गर्भवती महिलाओं से अनुरोध किया जा रहा है। पीले चावल से न्योता उन्हीं पंचायतों के मतदान केंद्रों में किया जा रहा है, जहां पिछले विधानसभा में मतदान का प्रतिशत बहुत कम हुआ था।
क्र. 299

एक आदतन अपराधी को किया जिला बदर

मुरैना 27 अक्टूबर 2020/ जिला मजिस्ट्रेट मुरैना श्री अनुराग वर्मा ने पुलिस अधीक्षक श्री अनुराग सुजानिया के प्रस्ताव पर एक आदतन अपराधी को जिला बदर किया है। इस आरोपी पर विभिन्न थानों में विभिन्न अपराधों के मामले पंजीवद्ध है। जिला मजिस्ट्रेट श्री अनुराग वर्मा ने मध्यप्रदेश राज्य सुरक्षा अधिनियम 1990 की धारा 3 सहपठित धारा 5,6 के प्रावधानों के अंतर्गत यह कार्यवाही की है।
जिस आदतन अपराधी को जिला बदर किया है, उसमें ग्राम कोंथरखुर्द हाल पोरसा थाना पोरसा के दिनेश उर्फ मंगल पुत्र भगवान उर्फ नरेश तोमर शामिल है। इस आदतन अपराधी कि आपराधिक, असामाजिक गतिविधियों को नियंत्रित करने के उद्देश्य से लोक व्यवस्था एवं जनसाधारण के हित में शान्ति व्यवस्था बनी रहे, इसके लिए जिला मजिस्ट्रेट श्री अनुराग वर्मा ने इस आदतन अपराधी को आदेशित किया है, कि वह जिला मुरैना एवं उसके निकटवर्ती जिले ग्वालियर, भिण्ड, श्योपुर एवं शिवपुरी की सीमा से एक वर्ष की अवधि के लिए बाहर चले जाये। आदेश में कहा है कि यह अपराधी बिना पूर्व स्वीकृति के मुरैना, ग्वालियर, भिण्ड, श्योपुर और शिवपुरी जिलों की सीमा में प्रवेश नहीं करें।

मौसम परिवर्तन से स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव नहीं पड़े
सिविल सर्जन डाॅ. गुप्ता की सलाह
मुरैना 27 अक्टूबर 2020/मुरैना राष्ट्रीय जलवायु परिवर्तन एवं कोरोना-19 के स्वास्थ्य कार्यक्रम एन्वायरमेंट हेल्थ का गठन किया गया है। यह जलवायु परिवर्तन के कारण मानव स्वास्थ्य पर पड़ने वाले विपरीत प्रभावों के बारे में लोंगो को समझाईश दे रहा है। डाॅ ए के गुप्ता सिविल सर्जन द्वारा बताया है कि मौसमी परिर्वतनों के कारण फैलने वाली बीमारियों को समय पर सूचना करने एवं बचाव संबंधी गतिविधियां कर वायु प्रदूषण हवा के ठोस कणों तरल बिंदु या गैस के रूप में मौजूद कणों के कारण होता है। ये प्राकृतिक या कृत्रिम हो सकते हैं। अतिसूक्ष्म कण नासिका या मुंह द्वारा श्वसन दौरान फेंफड़ों तक पहुंचते हैं। वहां से रक्त धमनियों में प्रवेश कर शरीर के विभिन्न भागों में पहुंचते हैं तथा दिल, फेंफड़े, दिमाग आदि को हानि पहुंचाते हैं। प्रदूषित हवा मानव स्वास्थ्य के लिये बड़ा खतरा है। इसके बचाव के लिये प्रदूषित जगहों पर ना जायें, जरूरत पड़ने पर घर से बाहर जायें, आंखों में जलन, सांस की तकलीफ या खांसी होने पर तुरंत डाॅक्टर को दिखायें गंभीर बीमारी के मरीज का विशेष ध्यान रखें, पटाखे, कूड़ा-पत्तियां आदि न जलायें, प्लास्टिक न जलायें, बीड़ी सिगरेट का प्रयोग न करें और दूसरों को न करने दें। धुंआ रहित ईंधन का प्रयोग करें। हरियाली रखें, वृक्ष लगायें, वायु प्रदूषण से 65 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्ग 5 वर्ष से कम आयु के बच्चे गर्भवती महिलायें श्वास एवं ह्रदय संबंधी मरीज अधिक वायु प्रदूषण वाले क्षेत्र में कार्यरत लोगों को वायु प्रदूषण से बचाव करने से बचने हेतु सलाह दें और स्वयं बचाव करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort