• Sun. Jun 26th, 2022

किसी हिन्दू को सुना है मस्जिद में घुस कर हनुमान चालीसा पढ़ते?

Byadmin

Apr 4, 2022

अल्लाह हू अकबर बोलकर लोगों को काटना और मारना ही था तो खामखां IIT की एक सीट बर्बाद कर दी। किसी काम के बंदे को सीट मिली होती तो देश के काम भी आता। यदि वह इंजीनियर मानसिक रूप से बीमार है तो “जय श्रीराम या हर हर महादेव” बोलते हुए किसी मजार या दरगाह पर क्यों नहीं गया?छत पर रखे है पत्थर,आँगन में छिपे दंगाई हैं।जो भगवे पर पत्थर फेंके,कैसे कह दूँ वो भाई हैं?
अभी थोड़ा दर्द और होगा,जब भाईचारा से भाई अलग और चारा अलग होगा,जब आपको पता चलेगा की भाईचारे में आप सिर्फ़ चारा हो उनका।कभी किसी हिन्दू को सुना है मस्जिद में घुस कर हनुमान चालीसा पढ़ते?

फिर अहमद मुर्तजा अब्बासी गोरखधाम मंदिर में घुसकर अल्लाह हू अकबर का नारा क्यों लगाया?जब वो जन्म लेता है तो उसका धर्म होता है जब आतंकी बनता है तो धर्म गायब ।पर जैसे ही एनकाउंटर होता है धर्म वापस आ जाता है..।पढ़ा लिखा हो या पंचर छाप मानसिकता एक ही है
गोरखनाथ मंदिर में“अल्लाह हू अकबर” के नारे के साथ जिस मोहम्मद मुर्तज़ा ने घुसने की कोशिश की थी वह IIT मुंबई से पास आउट केमिकल इंजीनियर है और मुंबई से हवाईजहाज से गोरखपुर आया था
बदक़िस्मती इतनी थी की बाबा से पंगा ले लिया। बचपन मे ही अगर जहर भर दिया गया हो तो फिर आप भले ही बाद में IIT में पढ़ाई कर लें पर मानसिकता नही बदलने वाली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort