• Fri. May 20th, 2022

कोविड वैक्सीनेशन को अधिकारी पंचवर्षीय योजना न बनायें – कलेक्टर

Byadmin

Jun 25, 2021

जिला जनसम्पर्क कार्यालय, मुरैना
मध्यप्रदेश शासन
समाचार
कोविड वैक्सीनेशन को अधिकारी पंचवर्षीय योजना न बनायें – कलेक्टर
कार्य में कोताई बरतने पर 3 अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस, कटेगा वेतन
मुरैना 25 जून 2021/ कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने कोविड में जुड़े जिले के समस्त अधिकारियों, कर्मचारियों को स्पष्ट निर्देश दिये है कि कोविड वैक्सीनेशन के प्राप्त लक्ष्य को प्रतिदिन उपलब्धी मानकर पूर्ण करें, प्रतिदिन मिलने वाला वैक्सीनेशन दूसरे दिन के लिये बचना नहीं चाहिये। कोविड वैक्सीनेशन को अधिकारी पंचवर्षीय योजना मानकर न चलें। उसमें तीव्रता से गति लायें। पूरे जिले में वैक्सीनेशन का कार्य निर्धारित मापदण्डों के अनुसार अधिकारी अपने कर्तव्य का निर्वहन करें। अन्यथा उनके खिलाफ शासन के निर्देशानुसार कार्यवाही की जायेगी। बैठक में उन्होंने तीन अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस और वेतन काटने के निर्देश दिये। बैठक में जिला पंचायत के सीईओ श्री रोशन कुमार सिंह, अपर कलेक्टर श्री नरोत्तम भार्गव, संयुक्त कलेक्टर श्री संजीव कुमार जैन, श्री एलके पाण्डेय, एसडीएम, समस्त जिलाधिकारी तथा गूगल मीट से अनुभाग स्तर के एसडीएम तथा ब्लाॅक स्तर के अधिकारी जुड़े हुये थे।
कलेक्टर ने कोविड वैक्सीनेशन महाअभियान की समीक्षा में कैलारस ब्लाॅक के आॅक्सीजन प्लांट की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान पीआईयू के एई श्री राहुल सिंह बैठक से अनुपस्थित रहे और न ही गूगल मीट से जुड़े हुये थे। इस पर कलेक्टर ने कारण बताओ नोटिस तथा एक दिन का वेतन काटने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने कोविड वैक्सीनेशन के प्राप्त लक्ष्य को उसी दिन शतप्रतिशत पूर्ण करने की समीक्षा में पाया कि पोरसा नोडल आॅफिसर द्वारा द्वितीय डोज की जानकारी गूगल मीट पर नहीं दे सकीं। इस पर पोरसा की नोडल डाॅ. अल्पना को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही बीएमओ सबलगढ़ द्वारा वैक्सीन के संबंध में सही जानकारी न देने उनको कारण बताओ नोटिस एवं आंकड़े सही न बताने पर एक वेतनवृद्धि रोकने का प्रस्ताव स्वास्थ्य सेवाओं को भेजने के निर्देश दिये।
कलेक्टर ने कहा कि हमारा मुख्य टारगेट 18 वर्ष से अधिक आयु वाले शतप्रतिशत लोगों में वैक्सीनेशन हो जाये। जितने डोज प्रतिदिन मिल रहें है, उतने लोंगो को वैक्सीन लग जानी चाहिये। डोज बचना नहीं चाहिये। वैक्सीन ही जिंदगी का सबाल है, ऐसा न हो कि वैक्सीन से वंचित रहे। कलेक्टर ने प्रत्येक ब्लाॅक बार एसडीएम बीएमओ, जनपद सीईओ एवं सीएमओ से समीक्षा की। उन्होंने जनपद सीईओ को सीएमओ को निर्देश दिये कि जिले में सबसे पहले पंचायत या नगरीय क्षेत्र का वार्ड संपूर्ण वैक्सीनेशन करायेगा, उस अधिकारी को कुशल अधिकारी माना जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort