• Sat. Jun 25th, 2022

गृहयुद्ध अवश्यंभावी है

Byadmin

May 15, 2021

गृहयुद्ध अवश्यंभावी है

गृह युद्ध से बचने के नुसखे👇 👇👇👇👇
नवंबर में राज्यसभा में बीजेपी बहुमत से आ जाएगी और 1 दिसंबर से 31 मार्च के बीच में 25 नए बिल पास होंगे जिसमें जनसंख्या नियंत्रण सबसे महत्वपूर्ण बिल होगा।

हमारे लिए यह हमारी जिंदगी का सबसे कठिन समय होगा।

मेरा तो सभी से निवेदन है कि अभी से सब लोग तैयारी कर लें।

अपने आसपास वालों को सचेत करें। उन्हें समझाएं कि उस वक्त हमें बहुत समझदारी और ध्यान पूर्वक कार्य करना है।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि उस वक्त हमको हमारे परिवार और हमारे समाज और हमारे लोगों की सुरक्षा करना है।
अगर इसकी तैयारी अभी से नहीं की गई तो बहुत बड़ी दुर्घटना घट सकती है।

जब यह सब बिल पास होंगे तब एक बड़ा गृह युद्ध पूरे देश में एक साथ होगा।

आप की तैयारी हो या ना हो लेकिन विरोधियों की तैयारी जबरदस्त है।
तैयारी का नमूना दिल्ली और बेंगलुरु में दे दिया गया है।
इसी समय पर चीन व पाकिस्तान के साथ युद्ध होने की प्रबल संभावना है,सेना सीमा पर व्यस्त होगी,अर्थात सेना देश के भीतर न करने की हालत में होगी ।
एकता और समझदारी में ही फायदा है

क्या करें?

कोई भी एक दिन और समय निश्चित करके 3-4 अपने पडोसियों को लेकर अपनी गली के मंदिर में अथवा समाज में बैठें- फिर उठकर अपनी गली में 8-10 पडोसियों को अगले हफ्ते उसी दिन के उसी समय में आमंत्रित करें-कहें हम लोग हर हफ्ते मंदिर में बैठेंगे ।इसी प्रक्रिया को तीन हफ्ते दुहराने से आपकी पूरी गली साप्ताहिक मीटिंग पर होगी ।
पूजा पश्चात बात करिये- धर्म पर,जाति को समाप्त करने पर,सफाई पर,सहयोग, स्वास्थ्य पर आपकी गली ही नहीं, दोस्तों में, रिश्तेदारों में, समाज में, मुहल्ले में, शहर में, देश में ।इस सुरक्षा चक्र में कोई भी जिहादी घुस नहीं पायेगा ।
इतना प्रसारित करें, प्रचारित करें, विस्तारित करें, मेहनत करें कि हर गली का हर मंदिर पूरे देश में गुंजायमान हो जाये, हर गली में पुख्ता सुरक्षा इंतजाम हो जाये कि – गुंजायमान हो आकाश, पृथ्वी इस नारे से—-
बात चली भई बात चली।
हिंदू एकता गली गली ।

           *_गणित का सवाल_*

अगर आपको गणित आती है तो बताइए 1947 से 2017 यानी 70 साल में भारत मे रुक गए मुसलमान की आवादी 3 करोड़ से दस गुणा बढकर 30 करोड़ हो गयी है तो हमारे बेटे के ही जीवन काल यानी अगले 70 साल (2090) में उनकी आबादी कितनी होगी ?

फिर से दस गुणा यानि 300 करोड़ और सोचिये तब….

1 – हमारी सम्पत्ति का क्या होगा ?
2 – हमारे व्यवसाय का क्या होगा ?
3 – हमारी नौकरी का क्या होगा ?
4 – हमारे मन्दिरों का क्या होगा ?
5 – स्कूल गयी हमारी बेटी का क्या होगा ?
6 – हमारे संविधान का क्या होगा ?
7 – हमारे जातीय अहंकार का क्या होगा ?
8 – हमारे आरक्षण का क्या होगा ?
9 – हमारी नेतागिरी का क्या होगा ?
10 – हमारी जाती के लोगों का क्या होगा ?

क्या तब हमारी स्वार्थी बुद्धि
कोई समाधान कर पायेगी? नहीं ना… तो फिर वही होगा जो काश्मीरी हिंदूओ का हुआ था ।

उनके पास फिर भी शरण लेने के लिए भारत देश था आपके पास क्या है ???

इसीलिए भावी पीढ़ी की सलामती के लिये CAA, NRC, NPR तथा Population Control Bill आदि अनिवार्य है ।

कृपया सबको जागरूक करें व एकजुट होकर सरकार का साथ दें 🙏🙏

🚩हर हर हर महादेव🚩

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort