• Sun. May 29th, 2022

चार स्तम्भ बदलाव के 🙏1पुजारी संत ,, 2 गुरु शिक्षा के मार्गदर्शक शिक्षक 3 अधिवक्ता क़ानून के जानकार 4रक्षक पुलिस 🙏

Byadmin

Apr 29, 2021

चार स्तम्भ बदलाव के 🙏1पुजारी संत ,, 2 गुरु शिक्षा के मार्गदर्शक शिक्षक 3 अधिवक्ता क़ानून के जानकार 4रक्षक पुलिस 🙏

मंदिर के पुजारी प्रथम है जो आस्था के केंद्र हिन्दू के मंदिर की पूजा पाठ सहित ईश्वर की पूजा की जिम्मेदारी लिए है यदि ए हिन्दुओ क़ो धर्म के प्रति सही जाकृत करे तो ईश्वर भक्त हिन्दू अपने धर्म के लिए आस्था के साथ साथ इसपर आँख उठाने वाले क़ो मरने मारने से भी पीछे नही रहेंगे . प्रथम जिम्मेदारी पुजारी व संत समाज की है 🙏

दूसरी जिम्मेदारी गुरु बच्चो की हर सरकारी और प्राइवेट विद्यालय के शिक्षक राष्ट्र निर्माता होते है वे यदि बच्चो मे धर्म व राष्ट्र के प्रति किताबी ज्ञान कम्पटीष्ण कम क़र कुछ देर धर्म व राष्ट्र की मौखिक ज्ञान व्याख्यान क़र दे और बच्चो क़ो बच्चो क़ो गीता रामयण पढ़ने की इक्षा शक्ति क़ो जगाय तो बच्चे बाल अवस्था मे बर्बाद होने से बचेंगे ही और बचपन से ही धार्मिक तैयार होंगे .

अधिवक्ता मतलब ओकील

क़ानून की जानकारी हर ओकील क़ो ही है और ओकील चाहे तो देश की आधी अपराध खत्म हो सकती है यदि हर ओकील इस देश के नागरिक स्वयं क़ो समझता है तो हर जनता क़ो भी नागरिक समझ क़र साथ दे और हर आम लोग क़ो क़ानून की लचिलापन खराबी बुराई अच्छाई हर येंगल से एक सच्चे इंसान बनकर सहयोग साथ देता है तो आधी निपटारा होगा अपराध मे .

चौथा है पुलिस ए यदि नेता के बात क़ो नही मानकर ए राजनीति से ऊपर उठकर अपने नागरिक क़ो नागरिक समझ अपने वर्दी बंदूक की गरिमा समझे तो बड़ी बदलाव होंगी .

पुजारी संत , गुरु शिक्षक , अधिवक्ता ओकील, और पुलिस यह ज़ब बदलाव ले आए यह चारो सिर्फ व्यक्तिगत बेटे बेटी की खुश करने से हट क़र पुरे देश के जनता क़ो अपना बेटा बेटी समझ क़र साथ दे दिया उसी दिन बदल जाए यह देश 🙏

पर कलयुग स्वार्थ लोभ माया अहंकार क्रोध इनको चपेट मे ले लिया है
विचार कीजियेगा 🙏ठंडे मन से 🙏🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort