• Sat. Jun 25th, 2022

डा शवेता रस्तोगी के द्वारा जानिए इसबगोल है कितना लाभकारी है

Byadmin

May 18, 2021

जानिए इसबगोल है कितना लाभकारी

जानिए इसबगोल के लाभ

इसबगोल गेहूं के पौधे के समान दिखने वाला झाड़ीनुमा पौधा होता है| इसके सिरों में गेहूं जैसी बालियाँ लगी होती है| इसके बीजों के उपर सफ़ेद भूसी होती है जो हेल्थ से जुडी समस्याओं के लिए बहुत कारगार है. इसबगोल की भूसी, पत्तियों और फूलों का इस्तेमाल स्वास्थ्य संबधी समस्याओं को दूर करने में किया जाता है|

> इसबगोल कैसे बनता है-

जब इसबगोल के पौधे में सफ़ेद भूसी आ जाती है तो पौधे को काट दिया जाता है और अगर मिटटी में नमी दिखती है तो पौधे को जड़ से उखाड़ कर अलग कर दिया जाता है| इसके बाद इसबगोल के पौधे को धुप में सुखाया जाता है| जब यह पौधा पूरी तरह से सुख जाता है तो इसकी बालियों से इसबगोल को अलग कर दिया जाता है| इसके बाद इसबगोल की बालियों से भूसी को अलग करके उसे साफ़ कर दिया जाता है| इसबगोल की बालियों से भूसी को अलग करने के लिए इसे 7-8 बार पीसा जाता है. जब शुद्ध रंग आ जाता है तो इसबगोल एकदम सफ़ेद दिखने लगता है. इस तरह पूरी प्रोसेस के बाद इसबगोल बनता है|

इसबगोल के फायदे

> कब्ज को दूर करने में

आप सब अच्छे से जानते है की कब्ज कई बीमारियों को जन्म देती है| अगर आपने समय रहते कब्ज का इलाज नहीं किया तो आपको कई तरह की शारीरिक बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है| अगर आप भी कब्ज से परेशान है तो रात को सोते समय दो चम्मच इसबगोल को गर्म पानी में लेना चाहिए. 2-3 हफ्तों में ही आपको असर दिखने लगेगा और आपका पेट साफ़ हो जायेगा| इसके अलावा आप चाहे तो एक गिलास गर्म दूध में दो चम्मच इसबगोलमिलाकर रात को सोने से पहले ले सकते है|

> दस्त के इलाज में

इसबगोल में पानी को अवशोषित करने का गुण मौजूद होता है जिस वजह से दस्त से राहत दिलाने में यह बहुत कारगार है| यह मल की मोटाई को बढाता है और कोलन के माध्यम से होने वाली दस्त को रोकता है| यह आँतों को भी साफ़ करता है| जब आपको दस्त लगने लगे तो इसबगोल को दही के साथ मिलाकर इसका सेवन करना चाहिए| दही के साथ दिन में दो बार इसका सेवन करें, जल्द ही आपको दस्त से राहत मिल जाएगी|

> पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में-

जैसा की हम आपको उपर ही बता चुके है की पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में इसबगोल वरदान है. इसबगोल में अधिक मात्रा में फाइबर मौजूद होता है जिसका सेवन करने से पाचन तंत्र स्वस्थ रहता है. इसबगोल पेट की दीवारों से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर पेट की सफाई करता है और इसके साथ ही भोजन को आंत में पहुंचाने में भी मदद करता है. रोजाना खाना खाने के बाद दही के साथ इसबगोल का सेवन करना चाहिए| इससे खाना भी आराम से पच जाता है और पाचन तंत्र भी स्वस्थ रहता है|

> एसिडिटी के उपचार में-

पेट में जलन होना एसिडिटी का संकेत है| आज के समय में एसिडिटी की समस्या सबसे ज्यादा है| अगर आप भी एसिडिटी की समस्या से ग्रस्त है तो इसबगोल आपकी इसमें बहुत मदद कर सकता है| एसिडिटी और जलन को दूर करने के लिए इसबगोल के बारे में बताया गया है| इसबगोल पेट की आँतों से एसिड को अवशोषित करके उसे बाहर निकालता है जिससे एसिडिटी और जलन से राहत मिलती है|

> वजन कम करने में-

इसबगोल में एक चिपचिपा सा यौगिक पाया जाता है जो भूख को कण्ट्रोल करता है और वजन को नियंत्रित करने का काम करता है| यह बात साबित हुयी है की रोजाना भोजन करने से तुंरत पहले 10 ग्राम इसबगोल का सेवन करने से भूख कण्ट्रोल में रहती है| इसबगोल में यह खासियत होती है की इसका सेवन करने से यह घंटो तक भूख नहीं लगने देता है| एक चम्मच इसबगोल में एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर सुबह खाली पेट लेने से वजन नियंत्रित रहता है|

> पाइल्स के इलाज में-

इसबगोल में फाइबर की अधिक मात्रा पाई जाती है, इसलिए बवासीर (पाइल्स) और गुदा दर्द जैसी भयंकर दर्दनाक स्थितियों में यह बहुत अच्छा है| यह ना सिर्फ आँतों को साफ़ करता है बल्कि आँतों के आस-पास के हिस्सों से पानी को अवशोषित करके उनके मल को भी नरम करता है| मल के मार्ग को चिकना और दर्द मुक्त बनाता है जिससे गुदा में जलन और दर्द नहीं होता है| रात को सोते समय गर्म पानी में इसबगोल को मिलाकर पीये|

इसबगोल के नुकसान या साइड इफ़ेक्ट –

इसबगोल का सेवन अधिक मात्रा में ना करें अन्यथा आपको भूख ना लगने की समस्या हो सकती है|
2 साल और उससे कम उम्र के बच्चे को भूलकर भी इसबगोल ना दे|
इसबगोल का सेवन डॉक्टर से पूछकर ही करना चाहिए|
गर्भवती महिलाओं को इसबगोल का सेवन नहीं करना चाहिए|
अधिक मात्रा में इसबगोल का सेवन करने से एलर्जी की समस्या भी हो सकती है| इसलिए सिमित मात्रा में ही इसबगोल का सेवन करना चाहिए.
अगर आप किसी तरह की दवा का सेवन कर रहे है तो इसबगोल का सेवन ना करें अन्यथा यह दवा के प्रभाव को कम कर सकता है|
यदि आपको अपेंडीसाइटिस की समस्या है तो इसबगोल का सेवन ना करें अन्यथा आपकी समस्या बढ़ सकती है|

सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए

डा श्वेता रस्तोगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort