• Sat. Jun 25th, 2022

तालिबान

Byadmin

Aug 20, 2021

:-: तालिबान :-:
द्वापरयुग की गांधारी के श्राप से पीड़ित गांधार,जो कि वर्तमान में कंधार हो गया हैं,आज से 2500 वर्ष पूर्व पहले वहाँ कि श्रीविष्णु, श्रीब्रह्मा की मूर्तियों को तोड़कर,बहुत ही चतुराई से वहाँ बुद्ध की मूर्तिया स्थापित करके,उसे बौद्ध राष्ट्र बना दिया गया,जिसे आगे चलकर,मुस्लिमों ने हड़प लिया।तालिबान कोई मुस्लिम संगठन नहीं ,एक प्रबोद्ध संगठन हैं, जिसका उद्देश्य अफगानिस्तान को पुनः प्रबोद्ध राष्ट्र बनाने का हैं,इसलिये भारत समेत पूरे विश्व के बुद्धिजीवी चुपचाप बैठे हुए हैं।जब वहाँ लोगों को लड़वाकर गृहयुद्ध जैसे हालात पैदा कर दिए जाएंगे,तब वहां के नागरिको को शांति और अहिंसा के लिये बुद्ध की शरण में आना ही पड़ेगा।इसी तरह का पूरा खेल थाईलैंड से लेकर श्रीलंका में खेलकर, वहाँ के निवासियों में गृहयुद्ध करवाया जा चुका हैं।इसलिये चीन जैसे प्रबोद्ध राष्ट्र ने सबसे पहले तालिबान को मान्यता दी।इस समय समस्त विश्व के प्रशासन पर प्रबौद्धिकों का शासन हैं।इसलिये सभी सम्प्रदायों के ग्रंथों में भविष्यवाणी हैं कि कलयुग परिवर्तन की शुरुआत तब होगी,जब प्रबौद्धों का अंत होगा।जब जब इस धरतीं पर मानसिक युद्ध फैलाकर,समस्त विश्व की जनता को अधर्म और कुशासन की तरफ धकेलकर,समस्त पर्यावरण को नष्ट करके,मनुष्य के नैतिक मूल्यों का पतन करवा दिया जाता हैं,तब ही धरतीं माँ को पाप मुक्त करने हेतु,धर्मयुद्ध की शुरुआत होती हैं।जीत सत्य की ही होगी।
धन्यवाद :- बदला नहीं बदलाव चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort