• Tue. Jun 28th, 2022

परकाया प्रवेश

Byadmin

Apr 15, 2022

:-: परकाया प्रवेश :-:

जीवित अवस्था में रहते हुए सूक्ष्म शरीर को बाहर निकालकर,दूसरें शरीर में प्रवेश करवाना,परकाया प्रवेश कहलाता हैं।कुंडलिनी जागृत करके कोई भी ऐसा कर सकता हैं।जब आप ,अपने सूक्ष्म शरीर को बाहर निकाले तो,ऐसी अवस्था में आपका स्वयं का भौतिक शरीर सुरक्षित रहना चाहिए।परकाया प्रवेश विधा जानने वाले को ,अपने पूर्वजन्मों व अगले जन्मों,व ब्रह्मांडीय रहस्यों का बारें में जानकारी हो जाती हैं।किसी मृत शरीर में, समय रहते ही,परकाया प्रवेश किया जा सकता हैं, जो जीवित हैं, ऐसे जीव के शरीर में ,अपने सूक्ष्म शरीर को प्रवेश कराना प्रकृति के नियम विरुद्ध हैं।परकाया प्रवेश करने के बाद,स्वयं ही अपने शरीर को नष्ट करने का प्रयास करना या फिर अपने शरीर को हमेशा त्याग कर,दूसरें के शरीर में स्थाई तौर पर रहने का प्रयास करने पर,यह विद्या स्वयं ही लुप्त हो जाती हैं।जिसका दंड सूक्ष्म शरीर को भुगतना पड़ता हैं।जनकल्याण के लिए ही विद्या का उपयोग करने पर शुभ फल प्राप्त होता हैं।प्रकृति के रहस्यों को समझने के लिए ही यह विद्या निर्मित की गई हैं, अपने किसी निजी स्वार्थ की पूर्ति के लिए नहीं।विजय सत्य की ही होगी।

धन्यवाद :- बदला नहीं बदलाव चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort