• Sun. May 29th, 2022

पोस्ट मार्टम

Byadmin

Mar 1, 2022

पोस्ट मार्टम
वैसे मेरा मानना है कि किसी भी देश के लिए अपने सामरिक हित सबसे महत्वपूर्ण होते हैं और वे उन्हें ही ध्यान में रखते हुए निर्णय लेते हैं, हालांकि कभी कभी कोई puppet सरकार होती है जो कि किसी अदृश्य शक्ति के दवाब में काम करती है और उसके लिए उसके मुखिया को बड़ा भुगतान किया जाता होगा 1971 युद्ध में जब भारत पाकिस्तान का युद्ध हुआ था तब अमरीका पाकिस्तान के साथ था और पाकिस्तान की सहायता के लिए उसने अपना एक बड़ा युद्धपोत भेजा था तब रूस ने अमरिका को रोकने के लिए अपना सबसे शक्तिशाली युद्धपोत भारत में भेजा था तब मजबूर होकर पाकिस्तान को पीछे हटने के लिए मजबूर होना पड़ा था संयुक्त राष्ट्र संघ में भी रूस ने भारत के पक्ष में बार बार वीटो का प्रयोग कर भारत की काफी बार मदद की थी और कश्मीर के मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय होने से बचाने का प्रयास किया
आज भले ही भारत और रूस के इतने गर्मजोशी के रिश्ते नहीं है लेकिन आज भी रूस और भारत अच्छे मित्र देश है और रूस भारत की बहुत इज्जत करता है इसलिए भारत तमाम अंतर्राष्ट्रीय दबाव के बावजूद तटस्थ है और रूस के विरुद्ध कोई भी कार्यवाही के साथ नहीं खड़ा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort