• Wed. May 25th, 2022

मिशन शक्ति के अन्तर्गत अभियोजन विभाग को बीते 24 घण्टों में महिला एवं बाल अपराधों से जुड़े मामलों में 13 अभियुक्तों को आजीवन कारावास व अर्थदण्ड दिलाने में मिली सफलता

Byadmin

Oct 23, 2020

मिशन शक्ति के अन्तर्गत अभियोजन विभाग को बीते 24 घण्टों में महिला एवं बाल अपराधों से जुड़े मामलों में 13 अभियुक्तों को आजीवन कारावास व अर्थदण्ड दिलाने में मिली सफलता

महिला एवं बाल अपराधों से जुड़े 82 मामलों में अभियुक्तों की जमानतें खारिज करायी गयी तथा 41 गुण्डों को जिला बदर कराया गया
                                          लखनऊः 22 अक्टूबर, 2020
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के निर्देश पर प्रदेश की महिलाओं तथा बालिकाओं की सुरक्षा सम्मान एवं न्याय हेतु शारदीय नवरात्रि में 17 अक्टूबर से प्रारम्भ किये गये ’’मिशन शक्ति’’ अभियान के सकारात्मक परिणाम लगातार सामने आ रहे हैं। प्रदेश के अभियोजन विभाग द्वारा महिला एवं बाल अपराधों में अपराधियों को दण्डित कराने एवं उनकी जमानते खारिज कराने की दिशा में किये जाने वाले प्रयासों को और अधिक तेज किया गया है।
अपर मुख्य सचिव, गृह, श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने जानकारी देते हुए बताया कि मिशन शक्ति अभियान के अन्तर्गत अभियोजन निदेशालय द्वारा 68 अभियुक्तों को आजीवन कारावास, 88 अभियुक्तों को 10 वर्ष व अन्य वृहद कारावास व जुर्माने, 04 अपराधियों को साधारण कारावास, 53 आवारा और शोहदों को दण्डित कराया जा चुका है तथा 485 अभियुक्तों की जमानत खारिज कराने के साथ-साथ 172 गुण्डो को जिला बदर कराया जा चुका है।
अपर पुलिस महानिदेशक, अभियोजन श्री आशुतोष पाण्डेय ने उक्त जानकारी देते हुये बताया कि ’’मिशन शक्ति’’ अभियान के अन्तर्गत 21 अक्टूबर अपरान्ह से 22 अक्टूबर की मध्यान्ह तक बीते 24 घण्टें के भीतर अभियोजन विभाग के अधिकारियों द्वारा प्रभावी पैरवी के माध्यम से मिशन शक्ति के अन्तर्गत महिलाओं एवं बालक-बालिकाओं के विरूद्ध अपराध के मामलों में 13 अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा, महिला विरोधी अपराधों में 14 अभियुक्तों को अन्य कठोर कारावास एवं अर्थदण्ड से दण्डित कराया गया है।
श्री आशुतोष पाण्डेय ने अभियोजन विभाग द्वारा की गई कार्यवाही का विस्तृत विवरण देते हुए बताया कि प्रभावी पैरवी के फलस्वरूप जिन 13 अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा दिलाने में सफलता प्राप्त की गयी है उनमे फतेहपुर के 03 अभियुक्तों मोनू, महेन्द्र व राजेन्द्र को आम तोड़ने के विवाद में ननिहाल आये बच्चे शिवराम को गोली मारकर उसकी हत्या करने के अभियोग में आजीवन कारावास से दण्डित कराया गया। जनपद मीरजापुर में अभियुक्त मुकेश को नाबालिग 08 वर्ष की बच्ची के साथ बलात्कार के अभियोग में आजीवन कारावास से दण्डित कराया गया। अम्बेडकरनगर के पोक्सो अधिनियम के एक मामले में 13 वर्षीय नाबालिग बच्ची को जबरन खींच ले जाकर उसका बलात्कार करने के घृणित अपराध में अपराधी प्रीतम को आजीवन कारावास तथा 25,000 रूपये के जुर्माने से दण्डित कराया गया। महोबा में पति द्वारा अपनी पत्नी को मारपीट कर फांसी पर लटकाकर उसकी हत्या करने के अपराधी अभियुक्त राजेन्द्र को आजीवन कारावास से दण्डित कराया गया। बस्ती में नाजायज सम्बन्धों के शक में की गयी हत्या के अपराध में अभियुक्त राम दुलारे उसकी पत्नी तथा उसके बेटे विजय को आजीवन कारावास व 10-10 हजार रूपये अर्थदण्ड की सजा करायी गयी। जौनपुर में अभियुक्त पिता ने अपने पुत्र से रात में हुए झगड़े के दौरान लाइसेंसी बंदूक से गोली मारकर हत्या करने के अपराध में जहां कि सारे गवाह पक्षद्रोही हो गये थे, परिस्थितिजन्य साक्ष्य के आधार पर आजीवन कारावास से दण्डित कराया गया। शाहजहांपुर में नृशंस हत्याकाण्ड एवं गृहस्थी जलाने के गम्भीर अभियोग में मुल्जिमान श्यामपाल, सुरेश पाल, रामपाल को आजीवन कारावास से दण्डित कराया गया। 
अपर पुलिस महानिदेशक, अभियोजन ने बताया कि मिशन शक्ति अभियान के तहत महिलाओं एवं बालिकाओं के विरूद्ध हुए अपराध के मामलों में प्रदेश में बीते 24 घंटो में कुल 82 मामलों के तहत 86 अभियुक्तों की जमानतों को खारिज कराया गया है। इसी कड़ी में विभिन्न जनपदों में कुल 41 गुण्डों को जिला बदर कराने में सफलता प्राप्त हुई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort