• Sun. Jun 26th, 2022

मोदी कौन है ?

Byadmin

Apr 6, 2021

मोदी कौन है ?
इसका जवाब एक जानकार राजनैतिक वैद्य ने बड़ा सुंदर समझाया।
आयुर्वेद और मेडिकल सांईस में शहद को अमृत के समान माना गया हैं।
लेकिन आश्चर्य इस बात का है कि शहद को अगर कुत्ता चाट ले तो वह मर जाता हैं।
यानी जो मनुष्यों के लिये अमृत हैं वह शहद कुत्तों के लिये जहर है।
शुद्ध देशी गाय के घी को आयुर्वेद और मेडिकल सांईस औषधीय गुणों का भंडार मानता हैं।
मगर आश्चर्य, गंदगी से प्रसन्न रहने वाली मक्खी कभी शुद्ध देशी घी को नहीं खा सकती।
गलती से अगर मक्खी देशी घी पर बैठ कर चख भी ले तो वो तुरंत तड़प तड़प कर वहीं मर जाती है।
आर्युवेद में मिश्री को भी औषधीय और श्रेष्ठ मिष्ठान्न माना गया हैं।
लेकिन आश्चर्य, अगर गधे को एक डली मिश्री खिला दी जाए, तो कुछ समय में उसके प्राण पखेरू उड़ जाएंगे।
यह अमृत समान श्रेष्ठ मिष्ठान, मिश्री गधा कभी नहीं खा सकता हैं।
नीम के पेड़ पर लगने वाली पकी हुई निम्बोली में कई रोगों को हरने वाले औषधीय गुण होते हैं।
आयुर्वेद उसे “उत्तम औषधि” कहता हैं।
लेकिन रात दिन नीम के पेड़ पर रहने वाला कौवा अगर निम्बोली खा ले तो उस कौवे की मृत्यु निश्चित है।
मतलब, इस धरती पर ऐसा बहुत कुछ हैं… जो हमारे लिये अमृत समान हैं, गुणकारी है, औषधीय है…
पर इस धरती पर ऐसे कुछ जीव ऐसे भी हैं जिनके लिये वही अमृत… विष है।
मोदी वही गुणकारी अमृत औषधि है।
लेकिन कुत्तों (आतंकवादी-दंगाई),
मक्खियों (देशद्रोही-गंदगी),
गधों (वामपंथी सोच-राजनैतिक मूर्ख)
और
कौवों (स्वार्थी कपटी मीडिया) आदि के लिये… विष समान है।
इसलिये यह कुछ तत्व इतने भयभीत है
आपसे निवेदन करता हूं इस पोस्ट को हलके में न ले* ॥
आपके पास जितने भी ग्रुप है उस सभी ग्रुप में ये पोस्ट भेजे आपका आभार धन्यवाद होगा॥
मैंने तो मेरा कर्तव्य निभा दिया ॥
अब आपकी बारी देश सर्वोपरि थोड़ा समय निकालकर पोस्ट जरूर पढ़ें सोचें कि
हिन्दूएकताक्योंजरूरीहै!🙏

वे सभी हमारी एकता से ही घबराये हुए हैं!
पिछले

7 सालों में

7_से19राज्योंमेंपैरपसारते_BJPसे सहमेहुए_हैं !
ओड़िशा-बंगाल से तमिलनाडु तक की राजनीति में मोदी की धमक से डरे हैं!
उन्हें मालूम है कि अगले दो सालों में अगर मोदी जी के विजयरथ को नहीं रोका गया तो
2025 तक RSSविहिंपHUV जैसी हिन्दुवादी संगठन के झंडे के नीचे, हिन्दू इतने शक्तिशाली हो जायेंगे कि उन्हें दबाना नामुमकिन हो जायेगा!
उनके लिए तो अगला वर्ष अस्तित्व की लढाई के हैं!
हिन्दू वोट बैंक को क्षत – विक्षत करने का हर हथकंडा अपनाया गया!
बरसों की जातिवादी – तुष्टिकरण की राजनीती को यूँ बर्बाद होते देखना उनके लिए असहनीय है!
शुरुआत JNUमूलनिवासीबेमुलाअख़लाक़ से की गयी, कभी गुजरात के दलितोंपटेलों को भड़काया,
तो कभी हरियाणा के जाटों को
और कभी महाराष्ट्र के मराठो और दलित को!

विरोधी खुलकर मैदान में हैं!
वे चाहते हैं कि आप लड़ें
, सवर्ण-दलित लड़े,
जाटसैनी
मराठापटेल
यादवराजपूत
ब्राह्मणजाटव
बुनकरकुम्भार
सब आपस में कट मरें!
उन्हें बस आपके टूटने का इंतज़ार है!
भीम आर्मी का गठन
और बीच सड़क पर गाय काटकर खाना
या फिर परम पूज्य बाबा साहेब आम्बेडकर की तस्वीर के आगे प्रभु हनुमान जी का अपमान, ये सभी उसी साजिश का हिस्सा है!
वे पाकिस्तान से मोदी जी को हटाने की मिन्नत कर चुके हैं!
सेना का मनोबल तोड़ने की कोशिश रोज की जाती है!
उन्होंने आतंकीनक्सलीहुर्रियतपत्थरबाज तक का भी समर्थन करके देख लिया!
EVM और इलेक्शन कमीशन, CBI जैसी संवैधानिक संस्थाओं पर ऊँगली उठा चुके!
तैयार रहिये अगले साल इनसे भी बिकट परिस्थितियाँ खड़ी की जाएँगी!
आपको उकसाने – भडकाने का हर संभव प्रयास किया जायेगा!
*नरेंद्र मोदी जी की समझ बुझ और सोशल मीडिया की जागरूकता से अब तक उनके सारे पासे उलटे पड़ रहे हैं!
*हर वार खाली जा रहा है!*
भगवान की कृपा रही तो राष्ट्रभक्त व मोदीजी आगे भी विरोधियों को जोरदार पटखनी देते रहेंगे!
सदियों के बाद आई है यह समग्र हिन्दूएकता, इसे यूँ न खोने दें!
हम सबको व्यक्तिगत दुश्मनी और घमंड की लड़ाई को छोड़कर इस एकजुटता को बनाए रखने का समय है।
आँखें पूरी खोलिए भाईयो…. 🙏🏽
याद रखिये, निशाने पर न ब्राह्मण है,
न जैन है
न मराठा है,
न वैश्य है,
न राजपूत है,
न गुर्जर है,
न दलित है,
न पिछड़े है ।
स्थान और अवसर के अनुसार जातियां बदलेगी, क्योंकि उनके निशाने पर तो…..????
निशाने पर हिन्दू है,
निशाने पर हिन्दु धर्म है
*निशाने पर भारत है, *
निशाने पर भारतीयता है ।
तोड़ना ही उनका मकसद है
वो JNU वाला नारा याद है न ?
भारत तेरे टुकड़े होंगे
..इंशा अल्लाह…इंशा अल्लाह
देशविरोधी और हिन्दू विरोधी शक्तियाँ अपना काम शुरू कर चुकी है।
अब बारी हमारी ओर आपकी हैं ।
और हमे और आपको केवल और केवल इतना ही करना है कि जातिवाद, ऊंच- नीच, अगड़े -पिछड़े, भाषावाद, क्षेत्रवाद आदि सभी तरह के भेदभाव भुलाकर संगठित एक रहना है, संगठित रहना है ।
भूल जाइए आप ब्राह्मण हैं, बनिया हैं या ठाकुर हैं, SC/ST या बाल्मीकि हैं। हम सब केवल हिन्दू हैं ।

*दूसरा कोई विकल्प ही नहीं है हमारे और आपके पास

🚩🚩जय मां भारती 🚩🚩
🇮🇳🙏🙏🙏🙏🙏🙏

संपादक

अशोक पटेरिया

छतरपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort