• Sun. May 29th, 2022

रबि विपणन के अंतर्गत समर्थन मूल्य पर गेंहू खरीदी के लिये जिले में 56 पंजीयन केन्द्र स्थापित समस्त केन्द्रों पर नोडल, उप जोनल और प्रभारी अधिकारी नियुक्त

Byadmin

Jan 24, 2021

रबि विपणन के अंतर्गत समर्थन मूल्य पर गेंहू खरीदी के लिये जिले में 56 पंजीयन केन्द्र स्थापित
समस्त केन्द्रों पर नोडल, उप जोनल और प्रभारी अधिकारी नियुक्त
मुरैना 23 जनवरी 2021/ मध्यप्रदेश शासन खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण के तहत रवि विपणन मौसम 2021-22 अंतर्गत समर्थन मूल्य पर गेंहू खरीदी 1975 रूपये प्रति क्विंटल की जायेगी। गेहूं खरीदी के लिये जिला उपार्जन समिति के निर्णयानुसार 56 पंजीयन केन्द्र बनाये गये हैें। कलेक्टर श्री बी कार्तिकेयन ने बताया कि 56 केन्द्रों पर नोडल, उप जोनल और प्रभारी अधिकारी नियुक्त किये हैं। अंबाह विकासखंड में 10, पोरसा विकासखंड में 7, मुरैना विकासखंड में 15 जौरा विकास खंड में 13, कैलारस विकासखंड में 6 और सबलगढ विकासखंड में 5 पंजीयन केन्द्र बनाये गये हैं जिसमें अंबाह विकासखंड के अंतर्गत पंजीयन केन्द्र दिमनी, सिकरोडी, ब्रहरूआ, लल्लूबसई, खडियार, बरबाई, रछेड, गोठ, विपणन सहकारी समिति अंबाह और रिठौरा में पंजीयन केन्द्र बनाये गये हैं। विकासखंड पोरसा के अंतर्गत विपणन सहकारी संस्था पोरसा, अररौन, रजौधा, सेंथरा अहीर, उसैदपुरा, कसमढा, कुरैंठा में पंजीयन केन्द्र बनाये गये हैं।
विकासखंड मुरैना के अंतर्गत विपणन सहकारी समिति मुरैना, बडागांव नावली, शिवलाल का पुरा, अजनौधा, जारह, जिगनी बिचोला, पिपरसेवा, जैतपुर नूराबाद, रिठौराकला, दीखतपुरा, मृगपुरा, जरेरूआ, दतहरा और रामपुरगंज में पंजीयन केन्द्र बनाये गये हैं।
विकासखंड जौरा के अंतर्गत विपणन सहकारी समिति जौरा, खांडोली, खनैता, निटहरा, मुंद्रावजा, परसोटा, सुजानगढी, मैनाबसई, पहाडगढ, चैना, विश्नोरी, भैंसरोली और पचोखरा में पंजीयन केन्द्र बनाये गये हैं। विकासखंड कैलारस के अंतर्गत प्राथमिक कृषि साख समिति कैलारस, विपणन सहकारी समिति कैलारस, मामचैन, तिलौंजरी, सुजर्मा और कोंडेरा में पंजीयन केन्द्र बनाये गये हैं। इसी प्रकार विकासखंड सबलगढ के अंतर्गत विपणन सहकारी संस्था सबलगढ, टेंटरा, रामपुरकला, झुंडपुरा और प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति कुल्होली में पंजीयन केन्द्र बनाये गये हैं। कलेक्टर श्री कार्तिकेयन ने बताया कि विगत रवि एवं खरीफ की भांति इस वर्ष भी किसानों के पंजीयन को भू अभिलेख के डाटाबेस पर आधारित किया जायेगा। किसान की भूमि एवं फसल के बोये गये एवं रकवे की जानकारी गिरदावली डाटाबेस से ली जायेगी जिससे पुनः सत्यापन की जानकारी नहीं रहेगी। संयुक्त खातेदार कृषकों को आनुपातिक रकवे के अनुसार पृथक पृथक पंजीयन कराने की सुविधा उपलब्ध रहेगी।
कलेक्टर ने बताया कि पंजीयन की अवधि 25 जनवरी से 20 फरवरी तक प्रत्येक पंजीयन केन्द्र पर प्रातः 9 से सांय 7 बजे तक समस्त कार्यदिवसों में रविवार को छोडकर किया जायेगा। उन्होंने बताया कि कृषकों को अधिक सशक्त करने संस्थाओं डाटा एन्ट्री आॅपरेटरों पर निर्भरता तथा पंजीयन केन्द्रों पर कार्य के दबाव को कम करने के लिये भूमि स्वामियों को पंजीयन के लिये निम्न विकिल्प रहेंगे। जिसमें एमपी किसान एप्प, ई-उपार्जन मोबाइल एप्प, पब्लिक डोमेन में ई-उपार्जन पोर्टल पर और विगत वर्ष के रबी उपार्जन केन्द्रों पर पहुंचकर कराया जा सकता है।

गणतंत्र दिवस के मुख्य कार्यक्रम में 12 विभागों की कल्याणकारी योजनाओं पर निकलेंगी झांकियां
मुरैना 23 जनवरी 2021/ कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन के निर्देश पर 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह पुलिस परेड ग्राउंड में संपन्न होगा। कार्यक्रम में मुरैना जिले के 12 विभागों की कल्याणकारी योजनाओं पर झांकियां निकाली जायेंगी। जिसमें महिला एवं बाल विकास द्वारा महिला सुरक्षा अभियान सम्मान से संबंधित, कृषि विभाग द्वारा समग्र खेती संपन्न किसान, स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड-19$कोरोना वैक्सीनेशन, नगरपालिका निगम मुरैना द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण, शिक्षा विभाग द्वारा हमारा घर हमारा विद्यालय, वन विभाग द्वारा चंबल में प्रवासी पक्षी, आदिम जाति कल्याण विभाग, उद्यानिकी फसलों में सूक्ष्म सिंचाई पद्धती का उपयोग, उप संचालक द्वारा सामाजिक न्याय, दिव्यांगजन का उत्थान एस के के साथ, जिला पंचायत द्वारा स्व सहायता समूह की महिलाओं का सशक्तीकरण, वेटेनरी विभाग द्वारा निराश्रित गोवंश, पीएचई विभाग द्वारा घर-घर नल, घर-घर जल की झांकियां निकाली जायेंगी। झांकियां शासन की प्राथमिताओं संबधी नये-नये नवाचार पर आधारित रहेंगीं। झांकियां 24 जनवरी तक तैयार हों, जिसे सीईओ जिला पंचायत को अवलोकित करायें और 26 जनवरी को प्रातः 7 बजे मुख्य समारोह स्थल पर पहुंचने के निर्देश दिये गये।

मुख्यमंत्री श्री च©हान गणतंत्र दिवस पर रीवा में राष्ट्रीय ध्वज फहरायेंगे
मुरैना 23 जनवरी 2021/गणतंत्र दिवस 26 जनवरी के अवसर पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह च©हान रीवा जिला मुख्यालय पर आय¨जित समार¨ह में राष्ट्रीय ध्वज फहरायेंगे अ©र प्रदेशवासिय¨ं क¨ संब¨धित करेंगे। मंत्रि-परिषद के सदस्य जिला मुख्यालय¨ं पर आय¨जित जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समार¨ह में राष्ट्रीय ध्वज फहरायेंगे अ©र मुख्यमंत्री के प्रदेश की जनता के नाम संदेश का वाचन करेंगे।
डाॅ. नर¨त्तम मिश्रा दतिया, श्री ग¨पाल भार्गव सागर, श्री तुलसीराम सिलावट इंद©र, कुंवर विजय शाह खंडवा, श्री जगदीश देवड़ा मंदस©र, श्री बिसाहूलाल सिंह अनूपपुर, श्रीमती यश¨धरा राजे सिंधिया शिवपुरी, श्री भूपेन्द्र सिंह जबलपुर, सुश्री मीना सिंह मांडवे उमरिया, श्री कमल पटेल हरदा, श्री ग¨विन्द सिंह राजपूत छिंदवाड़ा, बृजेन्द्र प्रताप सिंह पन्ना, श्री विश्वास कैलाश सारंग सीह¨र, डाॅ. प्रभुराम च©धरी रायसेन, डाॅ. महेन्द्र सिंह सिस©दिया गुना, श्री प्रद्युम्न सिंह त¨मर ग्वालियर, श्री प्रेमसिंह पटेल बड़वानी, श्री अ¨मप्रकाश सकलेचा नीमच, सुश्री उषा ठाकुर ह¨शंगाबाद, श्री अरविंद भद©रिया भिंड, डाॅ. म¨हन यादव उज्जैन, श्री हरदीप सिंह डंग राजगढ़ अ©र श्री राजवर्धन सिंह प्रेमसिंह दत्तीगांव धार जिले में राष्ट्रीय ध्वज फहरायेंगे।
इसी प्रकार राज्यमंत्री श्री भारत सिंह कुशवाह मुरैना, श्री इंदर सिंह परमार शाजापुर, श्री राम खेलावन पटेल सतना, श्री रामकिश¨र (नान¨) कावरे बालाघाट, श्री बृजेन्द्र सिंह यादव अश¨कनगर, श्री सुरेश धाकड़ बैतूल अ©र श्री अ¨.पी.एस. भद©रिया छतरपुर में राष्ट्रीय ध्वज फहरायेंगे अ©र मुख्यमंत्री के प्रदेश की जनता के नाम संदेश का वाचन करेंगे।

पीएससी मुख्य परीक्षा की तैयारी कराने के लिये 25 जनवरी से निःशुल्क प्रशिक्षण सत्र
अनुसूचित जाति एवं जनजाति के अभ्यर्थियों को मिलेगा यह प्रशिक्षण
मुरैना 23 जनवरी 2021/शारदा विहार सिटी सेंटर स्थित संभागीय अनुसूचित जाति परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण केन्द्र में 25 जनवरी से मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग की मुख्य परीक्षा की तैयारी कराने के लिये निःशुल्क प्रशिक्षण सत्र शुरू होगा। इस प्रशिक्षण में मध्यप्रदेश के मूलनिवासी अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति वर्ग के अभ्यर्थी भाग ले सकते हैं।
इन वर्गों के ऐसे अभ्यर्थी जिन्होंने मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण कर ली है और मुख्य परीक्षा में भाग लेने जा रहे हैं, वे इस प्रशिक्षण का लाभ उठा सकते हैं। प्रशिक्षण में भाग लेने वाले अभ्यर्थियों को शिष्यवृत्ति की पात्रता भी रहेगी। प्रशिक्षण केन्द्र में निःशुल्क पुस्तकालय सुविधा भी उपलब्ध है। प्रशिक्षण में भाग लेने के इच्छुक अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के आवेदक मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग-2019 की प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम, स्नातक अंकसूची व जाति प्रमाण-पत्र प्रस्तुत कर इस प्रशिक्षण में सम्मिलित हो सकते हैं। विस्तृत जानकारी के लिये परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण केन्द्र में संपर्क किया जा सकता है।

प्राईवेट स्कूलों की 31 मार्च को समाप्त होने वाली मान्यता ऑटो रिनुवल होगी 31 मार्च 2022 तक के लिए
नवीन मान्यता हेतु ऑनलाइन आवेदन 30 जनवरी तक
मुरैना 23 जनवरी 2021/राज्य शिक्षा केंद्र भोपाल द्वारा निःशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के अंतर्गत अशासकीय स्कूलों के लिए सत्र 2021-22 की नवीन मान्यता एवं मान्यता नवीनीकरण करने के आवेदन की प्रक्रिया एवं समय सारणी जारी की गई है। जिन अशासकीय स्कूलों की मान्यता 31 मार्च 2021 को समाप्त हो रही है, उनकी मान्यता ऑटो रिनुवल 31 मार्च 2022 तक किए जाने हेतु मध्यप्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा निर्देश जारी किए गए हैं। अतः इन अशासकीय स्कूलों को मान्यता नवीनीकरण हेतु आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है। यदि कोई संस्था सत्र 2021-22 से नवीन अशासकीय स्कूल संचालित करना चाहती हैं, तो पूर्व वर्णित प्रक्रिया अनुसार मान्यता आवेदन करना अनिवार्य है। यदि किसी स्कूल द्वारा स्कूल में कक्षा की वृद्धि की जाना है अर्थात यदि कोई स्कूल कक्षा पांचवी तक है परंतु उसे कक्षा आठवीं तक वृद्धि करना चाहते हैं तो उनके द्वारा प्राइवेट स्कूलों द्वारा नवीन मान्यता हेतु ऑनलाइन आवेदन 30 जनवरी तक किया जा सकता है। बीआरसीसी द्वारा स्कूल को भौतिक सत्यापन कर निरीक्षण रिपोर्ट जिला शिक्षा अधिकारी को अशासकीय स्कूलों द्वारा आवेदन करने के 15 कार्य दिवस के अंदर प्रेषित करना होगी।

’विद्युत सुरक्षा हेतु सावधानियां – ग्राम निवासी अवश्य ध्यान दें’
मुरैना 23 जनवरी 2021/विद्युत लाइनों, उपकरणों एवं खंभों से छेड़खानी करना विद्युत अधिनियम 2003 के अंतर्गत दण्डनीय अपराध है। जरा-सी असावधानी या छेड़खानी से बड़े-बड़े खतरे पैदा हो सकते हैं। ऐसी लाइनें जिनमें विद्युत शक्ति प्रवाहित होती है यदि आंधी तूफान या अन्य किसी कारण से अकस्मात् उन्हें छूकर खतरा मोल न लें। आवश्यक बात यह है कि लाइन टूटने की सूचना शीघ्र ही निकटस्थ बिजली कंपनी के अधिकारी को अथवा विद्युत कर्मचारी को दें। संभव हो तो किसी आदमी को उस जगह, अन्य यात्रियों को चेतावनी देने के लिये रखें। नये घर बनाते समय विद्युत पारेषण अथवा वितरण लाइन से समुचित दूरी रखें। यह कानून की दृष्टि से भी आवश्यक है। खेतों खलिहानों में ऊॅंची-ऊंची घास की गंजी, कटी फसल की ढेरियॉं, झोपड़ी, मकान अथवा तंबू आदि विद्युत लाइनों के नीचे अथवा अत्यंत समीप न बनायें। विद्युत लाइनों के नीचे से अनाज, भूसे आदि की ऊूंची भरी हुई गाड़ियॉं न निकालें, इससे आग लगने एवं प्राण जाने का खतरा है। लाइनों में फंसी पतंग निकालने के लिए बच्चों को कभी भी खंभे पर चढ़ने न दें। लाइन पर तार या झाड़ियां न फेकें। यदि कोई ऐसा करता है तो इसकी सूचना पास के पुलिस थाने या विद्युत कंपनी के वितरण केन्द्र में दें। विद्युत लाइनों के पास लगे वृक्ष या उनकी शाखा न काटें। यदि कटी डाल लाइन पर गिरे तो आपके लिए घातक सिद्ध हो सकती है।
बिजली के तारों पर कपड़े आदि डालना दुर्घटना को निमंत्रण देना है। अपने खेत खलिहान पर या संपत्ति की सुरक्षा हेतु अवरोधक तारों (फेन्सिंग वायर्स) में विद्युत प्रवाहित न करें। यह कानूनी अपराध भी है। इस प्रकार विद्युत का उपयोग करने वालों पर कानूनी कार्यवाही की जा सकती है। बिजली के खंभों पर कदापि न चढ़ें एवं स्टे-वायर आदि विद्युत उपकरणों से छेड़खानी न करें। ऐसा करने से आपका जीवन संकट में पड़ सकता है। बिजली के खंभों या स्टे-वायर से जानवर आदि न बांधे और न ही इससे जानवरों को रगड़ने दें। इससे जनधन की हानि हो सकती है।
यदि कोई व्यक्ति सजीव (चालू लाइन के) तारों के संपर्क में आ जाता है तो निम्न सावधानी बरतनी चाहिए स्विच से विद्युत प्रवाह तुरंत बंद कर दें। यदि स्विच बंद न कर सकें तो दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को सूखी रस्सी, सूखा कपड़ा या सूखी लकड़ी की सहायता से सजीव तारों से अलग करें। ऐसा न करने से सहायता करने वाले को भी झटका (शॉक) लग सकता है। दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को सजीव तारों से शीघ्र ही अलग करें क्योंकि एक सेकेण्ड की भी देरी घातक हो सकती है। दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को सूखी जमीन या सूखे फर्श पर लिटायें एवं कृत्रिम सांस देकर उसका प्रथमोपचार करें। डॉक्टर को तत्काल बुला कर कृत्रिम श्वॉंस देवें अथवा उसे शीघ्र अस्पताल पहॅुंचावें।
घरों में बिजली के तार सुव्यवस्थित ढंग से लगावें। अव्यवस्थित एवं ढीले-ढाले या झूलते तार खतरे से खाली नहीं है। सभी विद्युत यंत्रों के उपयोग में सावधानी बरतें। विद्युत तारों अथवा उपकरणों की खराबी दूर करने के लिए तथा बिजली का फ्यूज सुधारने के लिये किसी जानकार की ही सहायता लें। इससे एक ओर जहॉं दुर्घटना को टाला जा सकेगा वहीं दूसरी ओर आप आर्थिक हानि से भी बच सकेंगे। घरेलू उपकरणों एवं विद्युत फिटिंग का अर्थिंग करना अति आवश्यक है। सही अर्थिंग न होने से विद्युत दुर्घटना हो सकती है। प्रकाश, थ्रेशर चलाने के लिये लम्बे एवं जोड़ वाले तारों का उपयोग न करें। थे्रशर के तारों को बिजली कंपनी की लाइनों से अनधिकृत रूप से न जोड़ें। ऐसा करने से दुर्घटना हो सकती है एवं आपके विरूद्ध विद्युत चोरी का इल्जाम लगाया जा सकता है और कानूनी कार्यवाही की जा सकती है।

24, 26 एवं 31 जनवरी को बिजली बिल भुगतान केन्द्र खुलेंगे
मुरैना 23 जनवरी 2021/मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के कार्यक्षेत्र के अंतर्गत 24 जनवरी (रविवार), 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस) एवं 31 जनवरी (रविवार) को बिल भुगतान केन्द्र सामान्य कार्य दिवसों की तरह कार्य करते रहेंगे।
एम.पी.ऑनलाईन, कॉमन सर्विस सेन्टर, कंपनी पोर्टल चवतजंसण्उचब्रण्पद (नेट बैंकिंग, क्रेडिट, डेबिट कार्ड, यूपीआई, ईसीएस, बीबीपीएस, कैश कार्ड एवं वॉलेट आदि) पेटीएम एप एवं उपाय मोबाइल एप के माध्यम से बिल भुगतान की सुविधा उपलब्ध है। कंपनी ने यह भी निर्देश दिए हैं कि कंपनी कार्यक्षेत्र के सभी 16 जिलों में बिजली वितरण केन्द्र, बिल भुगतान केन्द्र अवकाश के दिनों में खुले रहेंगे। इसके लिए सभी मैदानी महाप्रबंधकों को निर्देशित किया गया है।

 

प्रदेश को जल जीवन मिशन में मिला 320 करोड़ से अधिक का अनुदान
भारत सरकार से जनवरी अंत एवं मार्च में और मिलेंगे 640 करोड़
मुरैना 23 जनवरी 2021/मध्यप्रदेश को राष्ट्रीय जल जीवन मिशन के अन्तर्गत भारत सरकार से पहली किस्त की द्वितीय ट्रान्च अनुदान राशि 320.13 करोड़ रूपये प्राप्त हो गई है। चालू वित्तीय वर्ष की दूसरी किश्त के अन्तर्गत प्रथम ट्रान्च अनुदान राशि जनवरी अंत तक तथा द्वितीय ट्रान्च राशि मार्च में प्राप्त हो जायेगी। मिशन में भारत सरकार से इस वर्ष 1280.13 करोड़ की अनुदान राशि स्वीकृत की गयी थी। मिशन के अन्तर्गत 80 प्रतिशत कार्य पूर्ण कर द्वितीय ट्रान्च अनुदान राशि प्राप्त करने वाले अग्रणी राज्यों में मध्यप्रदेश शामिल है।
राष्ट्रीय जल जीवन मिशन में ग्रामीण आबादी को नल कनेक्शन के जरिये पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए निर्मित की जा रही जलप्रदाय योजनाओं पर होने वाली व्यय राशि का 50-50 प्रतिशत हिस्सा केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाता है। प्रदेश के पास जल जीवन मिशन में भारत सरकार से वर्ष 2019-20 में प्राप्त अनुदान राशि में से 244.95 करोड़ की शेष राशि उपलब्ध थी तथा चालू वित्तीय वर्ष में 1280.13 करोड़ का अनुदान स्वीकृत किया गया। इसी समान अनुपात में राज्य सरकार द्वारा भी अपना करीब 1500 करोड़ रूपये का अंशदान शामिल कर जलप्रदाय योजनाओं का कार्य किया जा रहा है।
भारत सरकार जल शक्ति मंत्रालय द्वारा प्थ्डै पोर्टल के माध्यम से निरंतर यह मॉनिटरिंग की जाती है कि किसी भी राज्य द्वारा जल जीवन मिशन के अन्तर्गत कितनी राशि व्यय (खर्च) की जा चुकी है। मैचिंग ग्रान्ट (50रू50) के अनुसार 80 प्रतिशत राशि व्यय किये जाने की स्थिति में अगली किश्त (ट्रान्च) भारत सरकार द्वारा स्वमेव जारी कर दी जाती है। राज्य सरकार भी जल जीवन मिशन में 60 प्रतिशत राशि व्यय करने के बाद अनुदान राशि की अगली किस्त के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत कर सकती है।

विश्व उपभोक्ता दिवस पर राज्य एवं संभाग स्तरीय पुरस्कार हेतु प्रविष्ठियां आमंत्रित
मुरैना 23 जनवरी 2021/विश्व उपभोक्ता दिवस 15 मार्च के लिये राज्य एवं संभाग स्तरीय पुरस्कार के लिये प्रविष्टियां आमंत्रित की गई हैं। राज्य स्तरीय पुरस्कार उपभोक्ता संरक्षण के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली संस्था या व्यक्ति एक जनवरी 2020 से 31 दिसंबर 2020 के दौरान प्रत्येक माह की गई गतिविधियों के प्रमाण और विस्तृत विवरण सहित जिला कार्यालय कलेक्टर खाद्य शाखा में 31 जनवरी तक अब आवेदन प्रस्तुत करें । विलंब से प्रस्तुत आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे। आवेदन में उपभोक्ताओं की समस्या एवं शिकायतों के प्रतितोषण, प्रश्नमंच, प्रदर्शनियों का आयोजन, संगोष्ठियों उपभोक्ता मेला, नुक्कड़ नाटक, ग्रामीण क्षेत्र में विशेष रूप से जागरूकता हेतु प्रयास करना, उपभोक्ता हित से संबंधित विषय तथा संस्था का पंजीयन प्रमाण प्रस्तुत करना होगा । संस्था, व्यक्ति द्वारा उपभोक्ता फोरम में किए गए कार्य, प्रयास ,ग्रामीण, आदिवासी पिछड़े क्षेत्र में कार्यरत संगठनों को प्राथमिकता दी जाएगी । इनके लिए प्रथम पुरस्कार 1 लाख 11 हजार, द्वितीय पुरस्कार 51 हजार एवं तृतीय पुरस्कार 25000 रूपए मय प्रशस्ति पत्र के दिए जाएंगे ।
पोस्टर और निबंध प्रतियोगिता 6 फरवरी को
राज्य स्तरीय पोस्टर एवं निबंध पुरस्कार में उपभोक्ता अधिकारों के प्रति जनजागृति उत्पन्न करने एवं छात्र छात्राओं को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से जिलों में 6 फरवरी 2021 तक जिला शिक्षा अधिकारी के सहयोग से शालाओं में राज्य स्तरीय पोस्टर एवं निबंध प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी । उपभोक्ता संरक्षण के क्षेत्र में जिलों से प्राप्त उत्कृष्ट पोस्टर एवं निबंध प्रविष्टियों को राज्य स्तरीय पुरस्कार दिए जाएंगे । इनमें प्रथम पुरस्कार 6 हजार रूपए, द्वितीय पुरस्कार 4 हजार रूपए एवं तृतीय पुरस्कार दो हजार रूपए मय प्रशस्ति पत्र के दिए जाएंगे । इसी प्रकार संभाग स्तरीय पुरस्कार के लिए प्रथम पुरस्कार 21 हजार, द्वितीय पुरस्कार 11 हजार एवं तृतीय पुरस्कार 5 हजार रूपए माय प्रशस्ति पत्र के दिए जायेंगे।

गणतंत्र दिवस की फाइनल रिहर्सल आज
मुरैना 23 जनवरी 2021/ गणतंत्र दिवस के सफल आयोजन के लिये फाइनल रिहर्सल का आयोजन 24 जनवरी 2021 को प्रातः 9 बजे पुलिस परेड ग्राउंड पर होगा। इस अवसर पर संपूर्ण व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिये कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन निर्धारित समय पर उपस्थित रहकर अभी तक की गई तैयारियों एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का जायजा लेंगे।
गणतंत्र दिवस के मुख्य कार्यक्रम में ध्वजारोहण प्रदेश के उद्यानिकी, खाद्य एवं प्रसंस्करण (स्वतंत्र प्रभार) नर्मदा घाटी विकास राज्यमंत्री श्री भारत सिंह कुशवाह मुख्य अतिथि होंगे। इसके लिये जिला प्रशासन के समस्त विभाग प्राप्त जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन करेंगे।

आज विद्युत सप्लाई बंद रहेगी
मुरैना 23 जनवरी 2021/ मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लि. मुरैना के उपमहाप्रबंधक ने बताया कि 33/11 केव्ही लाईन मैन्टेेशन एवं प्रोजेक्ट कार्य होने के कारण 24 जनवरी 2021 को सुबह 10 से दोपहर 3 बजे तक 33 केव्ही इण्डस्ट्रीयल, 33 केव्ही जींगनी, 11 केव्ही न्यू फाटक, 11 केव्ही इण्डस्ट्रीयल, 11 केव्ही सिद्धनगर, 11 केव्ही माता मंदिर, 11 केव्ही जौरा रोड़, 11 केव्ही मुरैनागांव एवं 11 केव्ही काशीपुर फीडरों से संबंधित उपभोक्ताओं की विद्युत सप्लाई बंद रहेगी।

पहाडगढ़ के पोषण पुनर्वास केन्द्र में कुपोषित बच्चों का भर्ती कर उपचार जारी
मुरैना 23 जनवरी 2021/ पहाडगढ़ स्थित 10 बैड क्षमता के एन.आर.सी. में 1 से 4 जनवरी के बीच 4 बच्चे भर्ती थे। 22 जनवरी को एनआरसी में 5 और 23 जनवरी को 3 बच्चे भर्ती किये जा चुके है।
महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती उपासना राय ने इस खबर का खण्डन किया है कि आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में पोषण पुनर्वास केन्द्र खाली पड़ा है।
22 जनवरी 2021 को एक दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित खबर के आधार पर जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती उपासना राय ने घटना की जांच पहाडगढ़ के परियोजना अधिकारी से कराई। जिसमें परियोजना अधिकारी श्रीमती भारद्वाज ने अपने प्रतिवेदन में कहा है कि पहाडगढ़ का 10 बैड क्षमता वाला पोषण पुनर्वास केन्द्र खाली नहीं है। 1 जनवरी से 4 जनवरी 2021 तक बीच 4 बच्चे भर्ती हुये थे, जिन्हेें 21 जनवरी 2021 को डिस्चार्ज किया गया है। 22 जनवरी 2021 को भर्ती 5 बच्चे किये गये है। 23 जनवरी को 3 और बच्चे भर्ती हुये है। इस तरह 10 क्षमता वाले पोषण पुनर्वास केन्द्र में 8 बच्चे भर्ती है।
पहाडगढ़ एनआरसी में 10 बैड की क्षमता इस पोषण पुनर्वास केन्द्र पर कोरोना के समय से मातायें अपने बच्चों को एनआरसी में लेकर आने को तैयार न होने के कारण माह जनवरी में एनआरसी में 4 बच्चे भर्ती हुये, जिन्हें 21 जनवरी 2021 को डिस्चार्ज किया गया है। 22 जनवरी 2021 को एनआरसी पहाडगढ़ में 5 बच्चे एडमिट हो चुके है। 3 और बच्चे 23 जनवरी शनिवार को भर्ती किये गये है। सभी पर्यवेक्षकों को लक्ष्य के अनुसार एनआरसी में सेम बच्चों को भर्ती कराने के निर्देश दिये गये हैं, सभी के द्वारा सतत् प्रयास किया जा रहा है। अभी तक कुल 67 बच्चे एनआरसी में भर्ती कराये गये है।

कलेक्टर ने नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की जयन्ती पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किया
मुरैना 23 जनवरी 2021/आज शनिवार 23 जनवरी को नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की 125वी जयन्ती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाया गया। नवीन कलेक्ट्रेट भवन में कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किये। इस अवसर पर एडीएम श्री उमेशप्रकाश शुक्ला, नगर निगम कमिश्नर श्री अमरसत्य गुप्ता, संयुक्त कलेक्टर श्री संजीव जैन, श्री एलके पाण्डे सहित विभिन्न कार्यालयों के अधिकारी-कर्मचारियों ने भी नेताजी सुभाषचन्द्र बोस के चित्र के समक्ष पुष्प अर्पित किये। सबने नेताजी सुभाषचन्द्र बोस के अदम्य साहस एवं राष्ट्र के लिये उनके निरूस्वार्थ सेवा का स्मरण किया।

कूनो सायफन पुल पूर्णतः सुरक्षित
मुरैना 23 जनवरी 2021/ यमुना कछार जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियन्ता श्री एस.डी. श्रीवास्तव ने कहा है कि कूनो सायफन पुल पूर्णतः सुरक्षित है।
श्री श्रीवास्तव ने बताया कि 22 जनवरी 2021 को व्हाट्सएप पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें आई.बी.सी.-24 समाचार चैनल में बताया जा रहा है कि कूनो सायफन पुल क्षतिग्रस्त हो गया है, जिसस आमजनता में भय एवं भ्रम की स्थिति निर्मित हो रही है।
मुख्य अभियन्ता श्री श्रीवास्तव ने बताया कि वास्तविक वस्तुस्थिति यह है कि 22 जनवरी 2021 की स्थिति में कूनो सायफन पुल पूर्णतः सुरक्षित है। व्हाट्सएप पर दिखाया जा रहा वीडियो लगभग 4-5 वर्ष पूर्व का है, जो कूनो सायफन के ज्वाइंट पर स्थित रबर सील क्षतिग्रस्त हो गई थी, जिसका उसी समय सुधार कर दिया गया था। व्हाट्सएप पर वायरल हुआ समाचार गलत भ्रमक है।

एसडीएम मुरैना ने जिला चिकित्सालय का किया निरीक्षण
मुरैना 23 जनवरी 2021/ मुरैना एसडीएम श्री आरएस बाकना ने शनिवार को प्रातः 11 बजे जिला चिकित्सालय पहुंचकर औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान चिकित्सालय में आवश्यक व्यवस्थायें पूर्ण पाई गईं। इस अवसर पर सिविल सर्जन डाॅ. एके गुप्ता उपस्थित थे।

ब्लाॅक पोरसा में पराक्रम दिवस का आयोजन किया गया
मुरैना 23 जनवरी 2021/ नेहरू युवा केंद्र मुरैना के द्वारा ब्लाक पोरसा में पराक्रम दिवस का आयोजन किया गया। युवा एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित नेहरू युवा केंद्र के जिला युवा समन्वयक श्री राकेश तोमर के तत्वाधान में पोरसा ब्लॉक में बाईपास रोड़ पर सुभाष चंद्र बोस की जयंती के अवसर पर पराक्रम दिवस का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि की भूमिका श्री देशराज पठारिया, मिथिलेश तोमर ने निभाई। कार्यक्रम में श्री राकेश तोमर की अध्यक्षता में आयोजित किया गया।
सर्वप्रथम अतिथियों द्वारा सुभाष चंद्र बोस जी की तस्वीर पर माल्यार्पण किया गया तथा उसके पश्चात श्री राकेश तोमर ने युवाओं को नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जीवन पर प्रकाश डाला तथा युवाओं को बताया कि उन्होंने देश की आजादी में एक अहम भूमिका निभाई। नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को उड़ीसा में कटक के एक संपन्न बंगाली परिवार में हुआ था। बोस के पिता का नाम जानकीनाथ बोस और माँ का नाम प्रभावती था। उन्होंने तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा।

नगर निगम की सफाई व्यवस्था में हुआ सुधार
मुरैना 23 जनवरी 2021/ नगर निगम कमिश्नर श्री अमरसत्य गुप्ता ने स्वास्थ्य अधिकारी का चार्ज श्री राकेश श्रीवास्तव को विगत दिवस दिया गया था। चार्ज के बाद शहर की साफ-सफाई में सुधार हुआ है, शहर में कचरे के ढ़ेर सुबह 8 बजे तक उठा लिये जाते है एवं नगर के व्यवसायिक के क्षेत्र में रात्रिकालीन सफाई व्यवस्था लागू की गई है। सभी सफाई संरक्षकों का जिला अस्पताल के डाॅ. मौर्य एवं उनकी टीम द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण भी किया गया है।

नहीं चुकाया टैक्स: 11 बसोें के परमिट होंगे निरस्त
मुरैना 23 जनवरी 2021/ परिवहन विभाग को परमिट टैक्स अदा नहीं करना मुरैना जिले के 11 बस मालिकों को भारी पड़ सकता है। जिला परिवहन अधिकारी अर्चना परिहार ने शुक्रवार को 11 बस मालिकों को नोटिस जारी कर 7 दिन में उनकी बसों का परमिट निरस्त करने की बात कही है।
जिला परिवहन कार्यालय में शुक्रवार को परमिट की बैठक रखी गई। इस बैठक में 12 बसों की सूची आई। जिन्होंने डेढ़ से लेकर ढाई साल से परमिट टैक्स की राशि अदा नहीं की है। इन 12 बसों पर 21 हजार रूपये से लेकर 3.66 लाख रूपये तक का टैक्स बकाया है। इस बैठक के बाद इन सभी बस मालिकों को 7 दिन के भीतर टैक्स की राशि चुकाने के निर्देश दिये गये है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort