• Sun. May 29th, 2022

विवाह के नियम

Byadmin

Nov 19, 2020

विवाह के नियम
सनातन संस्कृति के वेदानुसार विवाह किससे कब और क्यू करना है उसकी जानकारी निम्न है-
हमेशा समान गुण, धर्म वाले व्यक्ति से विवाह करे विवाह कभी भी अपने से 8 वर्ष से बढ़े व्यक्ति से न करे या उनमें एक पीढ़ी यानि 10 वर्ष से ज्यादा अंतर न हो विशेष परिस्थिति में भी आयु से दुगनी से ज्यादा आयु वाले व्यक्ति से विवाह न करे । ब्राह्मण, वैश्य और शूद्र एक समय पर एक ही स्त्री पुरुष से विवाह करे, क्षत्रिय यानि सिर्फ राजा के लिए बहुविवाह की अनुमति है वो भी समयकाल और परिस्थिति के अनुसार । किसी एक के मरने पर इच्छानुसार पुनर्विवाह करे। लड़की की 16 और लड़के की 24 से कम आयु में विवाह न करे। लड़का लड़की स्वयंवर पद्धति से प्रेम कर एक दूसरे की भली भांति परिक्षा कर एक दूसरे से विवाह करे। लड़का लड़की की इच्छा के विपरीत अगर परिवार वाले विवाह करवाए तो सरकार द्वारा उन्हे कठोर दंड दिया जाए। ऐसे माता पिता नरक गामी होते है बालविवाह कभी न करे।किन्नरों और समलैंगिकों को भी विवाह का अधिकार है लेकिन वो भी उपयुक्त नियमों का पालन करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort