• Fri. May 20th, 2022

संक्रमण कम हुआ है यह संतोष की बात है लेकिन अभी रूकना नहीं है, मंजिल दूर है मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला, ब्लॉक एवं ग्राम स्तरीय क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी के सदस्यों से की चर्चा

Byadmin

May 16, 2021

संक्रमण कम हुआ है यह संतोष की बात है लेकिन अभी रूकना नहीं है, मंजिल दूर है
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला, ब्लॉक एवं
ग्राम स्तरीय क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी के सदस्यों से की चर्चा
मुरैना 16 मई 2021/मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण की दर प्रदेश में घटी है। यह हमारे लिये संतोष की बात है। लेकिन मंजिल अभी दूर है। हमें अपने प्रयासों को रोकना नहीं है, बल्कि और गति के साथ आगे बढ़ना है। प्रदेश को कोरोना मुक्त बनाकर ही हम चैन की साँस लेंगे। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने रविवार को ग्वालियर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ग्वालियर – चंबल संभाग के जिला स्तरीय, ब्लॉक स्तरीय, ग्राम स्तरीय और वार्ड स्तरीय क्राइसेस मेनेजमेंट समित के सदस्यों को संबोधित करते हुए यह बात कही। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्यों से चर्चा के दौरान केन्द्रीय कृषि, पंचायत एवं एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, राज्यसभा सांसद श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग, ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, क्षेत्रीय सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर सहित क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्य और विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिये किल कोरोना-3 अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत ग्रामीण क्षेत्र के हर घर तक दल पहुँच रहा है और लोगों का परीक्षण कर उन्हें दवा वितरण का कार्य कराया जा रहा है। इस सर्वेक्षण कार्य में क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्य और उनके सहयोगी भी दल के साथ जाएं, यह अपेक्षा है। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक लोगों का टेस्ट कराया जाए ताकि जो भी संक्रमित सामने आए उनका उपचार सुनिश्चित किया जा सके। मुख्यमंत्री श्री चैहान ने क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्यों से कहा कि वे ग्रामीणों को जागरूक करें कि वे कोरोना से डरें नहीं बल्कि सावधानी बरतें। किसी को भी सर्दी, खांसी या बुखार है तो छुपाएं नहीं बल्कि बताएं, ताकि उसका उपचार समय रहते किया जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि यह समय संयम का है। बिना काम के कोई भी व्यक्ति घर से न निकले। कोविड गाइडलाइन का पालन हो, यह भी सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे कोई आयोजन न किए जाएं जिसमें भीडभाड़ हो। शादी विवाह, धार्मिक आयोजन एवं अन्य आयोजन अभी बिल्कुल न किए जाएं। वर्तमान समय अपने आपको बचाने का है।


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा कि हमने गरीबों को निरूशुल्क पाँच माह का राशन उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है। तीन माह का प्रदेश सरकार द्वारा तथा दो माह का केन्द्र सरकार द्वारा प्रदाय किया जा रहा है। यह राशन सभी जरूरतमंदों तक पहुँचे, इसकी मॉनीटरिंग भी की जाए। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने यह भी कहा कि कोरोना काल में कई बच्चों ने अपने माँ-बाप खो दिए हैं ऐसे बच्चों के लिये भी हमने निर्णय लिया है कि पाँच हजार रूपए प्रतिमाह पेंशन, निरूशुल्क खाद्यान्न तथा शिक्षा की व्यवस्था भी प्रदेश सरकार करेगी। उन्होंने क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदसयों तथा जिला कलेक्टरों से भी कहा कि अगर उनके जिले में ऐसे कोई बच्चे हैं तो उनकी सूची तैयार की जाए ताकि उन्हें सरकार की तरफ से मदद दी जा सके। मुख्यमंत्री श्री चैहान ने सभी क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्यों से अपेक्षा की है कि अपने-अपने स्तर पर कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये जनता को साथ लेकर सकारात्मक माहौल बनाने का कार्य करें। कोरोना से लोग डरें नहीं बल्कि सावधानी अवश्य बरतें। उन्होंने यह भी कहा कि कोविड की चैन को तोड़ने के लिये जो कोरोना जनता कर्फ्यू लगाया गया है उसका सख्ती से पालन भी शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में हो यह भी सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने अंत में कहा कि हम सभी के प्रयास से कोरोना हारेगा और ग्वालियर-चंबल संभाग जीतेगा। कोरोना संक्रमण समाप्त होगा और हम फिर सामान्य जीवन जीयेंगे। इस संकट की घड़ी में हम सबको एकजुटता के साथ इसको समाप्त करने में जुट जाना चाहिए।
एनआईसी कक्ष मुरैना में प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान की व्हीसी को सुन रहे मुरैना के क्राइसेस मैनेजमेन्ट के सदस्य जौरा विधायक श्री सूबेदार सिंह रजौधा ने अनुरोध किया कि मुरैना जिले के अम्बाह, पोरसा, मुरैना, जौरा, सबलगढ़ के लिये आॅक्सीजन प्लांट स्वीकृत किये गये है। कैलारस ब्लाॅक को क्यों छोड़ा है। विधायक श्री सूबेदार सिंह रजौधा ने कहा कि कैलारस ब्लाॅक में भी आॅक्सीजन प्लांट बनवाने के लिये सूची में शामिल किया जाये।
इस अवसर पर एनआईसी कक्ष मुरैना में जौरा विधायक श्री सूबेदार सिंह रजौधा, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री योगेशपाल गुप्ता, पुलिस अधीक्षक श्री सुनील कुमार पाण्डेय, अपर कलेक्टर श्री नरोत्तम भार्गव, नगर निगम कमिश्नर श्री अमरसत्य गुप्ता, एसडीएम मुरैना श्री आरएस बाकना, समाजसेवी श्री हरिओम शर्मा, श्री दिनेश गुर्जर उपस्थित

कोविड-19 की संभागीय समीक्षा बैठक
संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिये सबको एकजुटता के साथ कार्य करना होगा दृ मुख्यमंत्री श्री चैहान, ग्वालियर-चंबल संभाग के सभी जिलों में 30 मई तक रहेगा जनता कर्फ्यू
मुरैना 16 मई 2021/ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा है कि कोविड की इस महामारी के समय हम सबको मतभेद भुलाकर संक्रमण की चैन को तोड़ने में जुटना होगा। कोरोना को परास्त करना ही हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने रविवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में ग्वालियर-चंबल संभाग के सभी जिलों में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये किए जा रहे कार्यों की समीक्षा बैठक में यह बात कही। उनके साथ केन्द्रीय कृषि, पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, राज्यसभा सांसद श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग, ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर सहित क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्यगण उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा है कि कोरोना की चैन को तोड़ने के लिये जनता कर्फ्यू ही सबसे प्रभावी उपाय है। ग्वालियर में संक्रमण कम हुआ है। इसे पूर्ण रूप से समाप्त करने के लिये 30 मई तक जनता कर्फ्यू लागू रहेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के संक्रमण में कमी जरूर आई है, लेकिन अभी लड़ाई लम्बी है। हम सबको कोरोना से मुक्त प्रदेश बनाने के लिये निरंतर कार्य करना होगा। हम सबको एक इकाई के रूप में मिलकर संक्रमण को मिटाने के लिये निरंतर कार्य करते रहने की आवश्यकता है। इस कार्य में हमें जनता का सहयोग भी हासिल करना होगा।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा कि हमारे लिये यह राहत की बात है कि हमारे प्रदेश की पॉजिटिविटी दर घटकर 10.8 हो गई है। कुछ दिन पहले यह 24 प्रतिशत तक पहुँच गई थी। ग्वालियर-चंबल संभाग के सभी जिलों में स्थिति में निरंतर सुधार ही हो रहा है। मुख्यमंत्री श्री चैहान ने कहा कि जिलों में जो कोविड केयर सेंटर स्थापित किए गए हैं उन्हें अब पोस्ट कोविड केयर सेंटर के रूप में संचालित करने की भी तैयारी हमको करना होगी। कोरोना की बीमारी से ठीक होने के बाद भी कुछ लोगों को ब्लैक फंगस, खून जमने जैसी बीमारियों के प्रकरण सामने आ रहे हैं। इनकी देखभाल के लिये भी हमें पोस्ट कोविड केयर सेंटर की आवश्यकता पड़ेगी।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा कि शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्र में भी संक्रमण न फैले, इसके लिये विशेष प्रयास किए जाना जरूरी है। प्रदेश में चलाए जा रहे किल कोरोना-3 अभियान के तहत ग्रामीण क्षेत्र के हर घर तक टीम पहुँचे और जो भी संक्रमित मिले उसका उपचार प्रारंभ हो यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने जिला स्तरीय, ब्लॉक स्तरीय तथा ग्राम स्तरीय क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्यों से भी अपेक्षा की कि वे स्वयं और उनसे जुड़े हुए लोग भी किल कोरोना अभियान के तहत जो दल घर-घर जा रहे हैं उनके साथ जाएं और लोगों को दवा वितरण और जागरूकता के कार्य में सहभागी बनें।
भविष्य की चुनौतियों के लिये भी करें पुख्ता प्लानिंग
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा कि हमें वर्तमान संक्रमण की रोकथाम के साथ-साथ भविष्य की चुनौतियों के लिये भी पुख्ता प्रबंध करने की आवश्यकता है। इसके लिये सभी जिलों के कलेक्टर अपने-अपने जिलों में भविष्य की व्यवस्थाओं की प्लानिंग करें। प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिलों में ऑक्सीजन प्लांट, आईसीयू बैड और ऑक्सीजन बैड बढ़ाने की व्यवस्था की जा रही है। आने वाले दिनों में चिकित्सकों और पैरामेडीकल स्टाफ की भर्ती का कार्य भी सरकार करने जा रही है। हर जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं को और बेहतर करने की दिशा में भी कार्य किए जा रहे हैं।
ब्लैक फंगस और बच्चों के लिये बनाए जाएं अलग वार्ड
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने बैठक में यह भी निर्देशित किया है कि ब्लैक फंगस और बच्चों के लिये सभी मेडीकल कॉलेजों में अलग से वार्ड बनाने की व्यवस्था की जाए। भविष्य में अगर कोई दिक्कत आती है तो उससे निपटने के लिये अलग वार्ड और सुविधायें रहें, यह सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चैहान ने कहा कि मेडीकल कॉलेज के साथ-साथ सभी जिलों में यह व्यवस्था हो, इसके लिये जिला कलेक्टर अपने-अपने जिले की प्लानिंग तैयार कर कार्य करे।

हर जरूरतमंद को मिले निशुल्क खाद्यान्न
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने बैठक में यह भी निर्देशित किया है कि प्रदेश सरकार द्वारा तीन माह का और केन्द्र सरकार द्वारा दो माह का राशन निरूशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है। यह निरूशुल्क राशन हर जरूरतमंद को मिले, यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कलेक्टरों को यह भी निर्देशित किया है कि खाद्यान्न का वितरण सही ढंग से हो, इसकी मॉनीटरिंग भी होना चाहिए। कोई भी जरूरतमंद अनाज की उपलब्धता से वंचित नहीं रहना चाहिए।
निःशुल्क उपचार की व्यवस्था की गई है
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा कि प्रदेश में जरूरतमंदों को निरूशुल्क उपचार मिले, इसकी व्यवस्था की गई है। आयुष्मान कार्ड के माध्यम से हर जरूरतमंद को निरूशुल्क उपचार की व्यवस्था मिले, यह सुनिश्चित किया जाए। इसके साथ ही जिस परिवार के एक सदस्य के पास भी आयुष्मान कार्ड है, उसके पूरे परिवार को निरूशुल्क उपचार की व्यवस्था मिलना चाहिए। इसके लिये प्रदेश के सभी जिलों में अस्पतालों को चिन्हित कर लिया गया है। इन अस्पतालों में सभी को उपचार मिले। इसके साथ ही कलेक्टर यह भी सुनिश्चित करें कि अगर कोई जरूरतमंद है तो उसका भी आयुष्मान कार्ड तैयार किया जाए। ऐसे लोग जिनके पास आयुष्मान कार्ड नहीं है उनके नए कार्ड बनाने का कार्य भी तेजी के साथ किया जाना चाहिए।
सभी जिले भविष्य के लिए एडवांस प्लानिंग करें – केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर
केन्द्रीय कृषि, पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा है कि मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान एवं उनकी टीम ने जो कार्य किया है वह प्रशंसनीय है। देश में संक्रमण की दृष्टि से मध्यप्रदेश में भी संक्रमण अधिक था। संक्रमण को नियंत्रित करने और व्यवस्थाओं को बेहतर करने की दिशा में मध्यप्रदेश ने उल्लेखनीय कार्य कर स्थिति को नियंत्रण में किया है।
केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने कहा कि अभी हमारी लड़ाई समाप्त नहीं हुई है। कोरोना को पूरी तरह से समाप्त करने के साथ-साथ हमें भविष्य के लिये भी सचेत होना होगा। इसके लिये सभी जिले एडवांस प्लानिंग कर अपनी-अपनी रणनीति तैयार करें और इसको अमलीजामा भी पहनाएं। केन्द्र सरकार के माध्यम से भी प्रदेश को हर संभव सहयोग उपलब्ध कराया जा रहा है। प्रदेश सरकार ने भी सभी जिलों में क्राइसेस मैनेजमेंट समिति और जनता के सहयोग से कोरोना संक्रमण के नियंत्रण में सफलता हासिल की है। ग्रामीण क्षेत्र में भी किल कोरोना-3 अभियान के माध्यम से घर-घर सर्वेक्षण कर संक्रमण की चैन को तोड़ने का कार्य किया जा रहा है। जन सेवा से जुड़े हुए सभी लोगों के साथ-साथ जनता का सहयोग हासिल कर हमें इस महामारी से निजात पानी होगी।
वर्तमान के साथ-साथ भविष्य के लिये भी हो प्लानिंग – राज्यसभा सांसद श्री सिंधिया
राज्यसभा सांसद श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बैठक में कहा है कि मध्यप्रदेश ने कोरोना संक्रमण को नियंत्रण में किया है, यह प्रसन्नता की बात है। हमें वर्तमान के साथ-साथ भविष्य के लिये भी पुख्ता प्लानिंग करने की आवश्यकता है। वर्तमान समय में ब्लैक फंगस की जो बीमारी सामने आ रही है उस पर प्रभावी नियंत्रण के लिये प्रयास किए जा रहे हैं। सभी मेडीकल कॉलेजों में ब्लैक फंगस के लिये अलग से वार्ड स्थापित हों, यह जरूरी है। इसके साथ ही भविष्य के लिये सभी मेडीकल कॉलेजों में बच्चों के लिये भी पृथक से वार्ड स्थापित हो, ताकि कोई दिक्कत आती है तो उसका सामना किया जा सके।
राज्यसभा सांसद श्री सिंधिया ने यह भी कहा कि शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी हमें कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिये विशेष प्रयास करना होंगे। प्रदेश में किल कोरोना अभियान के माध्यम से घर-घर पहुँचकर जो सर्वेक्षण का कार्य किया जा रहा है उसे और प्रभावी बनाया जाए। शासकीय अमले के साथ-साथ जनप्रतिनिधि और जनता का सहयोग भी इस अभियान को मिले, यह जरूरी है।
उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस के लिये जो आवश्यक इंजेक्शन है उसकी पूर्ति भी प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा की जा रही है। यह समस्या भी शीघ्र दूर हो जायेगी। श्री सिंधिया ने यह भी कहा कि सभी जिलों में कोरोना टेस्ट अधिक से अधिक संख्या में होना चाहिए, ताकि जो प्रकरण सामने आए उसका उपचार किया जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा हर जिलों में ऑक्सीजन प्लांट और वेंटीलेटर की व्यवस्था की जा रही है। इनके संचालन के लिये भी स्टाफ को प्रशिक्षित किया जाना आवश्यक है ताकि इनका बेहतर उपयोग जरूरतमंदों के लिये हो सके।
सभी जिलों की क्राइसेस मैनेजमेंट समिति ने दिए महत्वपूर्ण सुझाव
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने समीक्षा बैठक में ग्वालियर-चंबल संभाग के सभी जिलों में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और उपचार के लिये किए जा रहे प्रबंधनों की विस्तार से समीक्षा की। जिला कलेक्टरों ने अपने-अपने जिलों में किए जा रहे प्रबंधनों के संबंध में प्रजेण्टेशन के माध्यम से जानकारी दी। इसके साथ ही सभी जिलों में गठित क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदसयों ने अपने महत्वपूर्ण सुझाव भी मुख्यमंत्री को प्रस्तुत किए।

चिकित्सक एवं पैरामेडीकल स्टाफ की भर्ती की जाए – सांसद श्री शेजवलकर
क्षेत्रीय सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर ने ग्वालियर में स्वास्थ्य सुविधाओं की बढ़ोत्तरी के साथ-साथ चिकित्सकों और पैरामेडीकल स्टाफ की भर्ती की बात कही। उन्होंने कहा कि सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल में चिकित्सक एवं पैरामेडीकल स्टाफ की कमी के कारण दिक्कतें महसूस की जा रही हैं। इसके साथ ही एक हजार बिस्तर के अस्पताल का निर्माण भी ग्वालियर में किया जा रहा है। इसमें भी उपकरण और उपचार की आवश्यकता पड़ेगी। कॉन्टेक्ट बेस पर कम से कम एक अथवा दो वर्ष के लिये चिकित्सक और पैरामेडीकल स्टाफ की भर्ती की अनुमति प्रदेश सरकार से अपेक्षित है।
संभागीय कमिश्नर एवं कलेक्टर ने दी जानकारी
संभागीय समीक्षा बैठक में संभाग आयुक्त श्री आशीष सक्सेना ने ग्वालियर-चंबल संभाग के जिलों में कोविड संक्रमण और उपचार के लिये किए जा रहे प्रबंधनों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इसके साथ ही कलेक्टर ग्वालियर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने ग्वालियर में किए गए प्रबंधनों के संबंध में भी प्रजेण्टेशन के माध्यम से विस्तार से जानकारी दी।
बैठक में यह भी रहे उपस्थित
कोविड-19 की संभागीय समीक्षा बैठक में ग्वालियर कलेक्ट्रेट सभाकक्ष एवं एनआईसी कक्ष में क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्य, जिला पंचायत प्रशासकीय समिति की अध्यक्ष श्रीमती मनीषा यादव, पूर्व मंत्री एवं विधायक श्री लाखन सिंह यादव, विधायक डबरा श्री सुरेश राजे, विधायक ग्वालियर पूर्व श्री सतीश सिकरवार, पूर्व मंत्री श्री अनूप मिश्रा, पूर्व मंत्री श्री इमरती देवी, जिला अध्यक्ष भाजपा श्री कमल माखीजानी, ग्रामीण अध्यक्ष श्री कौशल शर्मा, पूर्व विधायक श्री मुन्नालाल गोयल, श्री मदन कुशवाह, श्री रामबरन सिंह, श्री रमेश अग्रवाल, चेम्बर ऑफ कॉमर्स के मानसेवी सचिव श्री प्रवीण अग्रवाल, बहुजन समाज पार्टी के अध्यक्ष श्री रामवीर सिंह कुशवाह, श्री मोहन सिंह राठौर सहित संभागीय आयुक्त श्री आशीष सक्सेना, आईजी श्री अविनाश शर्मा, डीआईजी श्री सचिन अतुलकर, कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
एनआईसी कक्ष मुरैना में प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान की व्हीसी को सुन रहे मुरैना के क्राइसेस मैनेजमेन्ट के सदस्य जौरा विधायक श्री सूबेदार सिंह रजौधा ने अनुरोध किया कि मुरैना जिले के अम्बाह, पोरसा, मुरैना, जौरा, सबलगढ़ के लिये आॅक्सीजन प्लांट स्वीकृत किये गये है। कैलारस ब्लाॅक को क्यों छोड़ा है। विधायक श्री सूबेदार सिंह रजौधा ने कहा कि कैलारस ब्लाॅक में भी आॅक्सीजन प्लांट बनवाने के लिये सूची में शामिल किया जाये।
इस अवसर पर एनआईसी कक्ष मुरैना में जौरा विधायक श्री सूबेदार सिंह रजौधा, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री योगेशपाल गुप्ता, पुलिस अधीक्षक श्री सुनील कुमार पाण्डेय, अपर कलेक्टर श्री नरोत्तम भार्गव, नगर निगम कमिश्नर श्री अमरसत्य गुप्ता, एसडीएम मुरैना श्री आरएस बाकना, समाजसेवी श्री हरिओम शर्मा, श्री दिनेश गुर्जर उपस्थित थे।

अंतर्राज्जीय बस परिवहन सेवा 23 मई तक स्थगित
आदेश जारी
मुरैना 16 मई 2021/ राज्य शासन ने कोरोना वायरस के संक्रमण पर प्रभावी रोकथाम के लिए लोकहित में मध्यप्रदेश में उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान और छत्तीसगढ़ राज्य से आने तथा जाने वाले बस परिवहन संचालन को पूर्व में 15 मई तक स्थगित किया था।
सचिव, राज्य परिवहन प्राधिकारी एवं अपर परिवहन आयुक्त ने बताया कि उक्त राज्यों से आने तथा जाने वाले बस परिवहन संचालन को स्थगित करने की अवधि बढ़ाकर 23 मई, 2021 कर दी गई है। इस संबंध में आदेश जारी कर दिये गये हैं।

जिले में अब 31 मई की प्रातः 6 बजे तक रहेगा कोरोना कफ्र्यू
मुख्यमंत्री की वीडियो काॅन्फ्रेंस बाद जिला क्राइसेस मैनेजमेन्ट ग्रुप ने लिया निर्णय
मुरैना 16 मई 2021/कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री बी कार्तिकेयन ने जिले में लागू कोरोना कर्फ्यू की अवधि बढ़ाकर अब 31 मई की प्रातः 6 बजे तक कर दिया है। पूर्व में इस कोरोना कर्फ्यू की अवधि 17 मई प्रातः 6 बजे तक थी, जिसे बढ़ाकर अब 31 मई की प्रातः 6 बजे तक कर दिया गया है। यह निर्णय प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा ग्वालियर से वीडियो काॅन्फ्रेस के माध्यम से संबोधित किया था। इसके आधार पर जिला स्तरीय क्राइसेस मैनेजमेन्ट की बैठक द्वारा लिया है।
कलेक्ट्रेट कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार बढ़ाई गई अवधि के दौरान भी सिर्फ मेडिकल एवं चिकित्सा से संबंधित संस्थान ही खुले रहेंगे, जबकि अन्य दुकानें बंद रहेंगी। इस दौरान फल, सब्जी, दूध की डिलीवरी घर-घर जाकर की जा सकेगी। अति आवष्यक सेवाओं वाले लोग सड़कों पर निकल पाएंगे, अन्यथा लोगो पर जुर्माना एवं खुली जेल की कार्यवाही की जाएगी।
रविवार को मुख्यमंत्री द्वारा आयोजित वीडियो कांॅफे्रंसिंग में दिये गये आदेश के तहत जिले की आपदा प्रबंधन समिति के सदस्य जौरा विधायक श्री सूवेदार सिंह रजौधा, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री योगेशपाल गुप्ता, पुलिस अधीक्षक श्री सुनील कुमार पाण्डेय, अपर कलेक्टर श्री नरोत्तम भार्गव, समाजसेवी श्री हरिओम शर्मा, श्री दिनेश गुर्जर, आयुक्त नगर निगम श्री अमरसत्य गुप्ता, एसडीएम मुरैना श्री आरएस बाकना सहित क्राइसेस मैनेजमेन्ट ग्रुप ने निर्णय लिया है कि कोरोना कफ्र्यू 31 मई 2021 की प्रातः 6 बजे तक बढ़ा दिया जाये।

डेंगू जनजागरूकता रथ को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. ए.डी.शर्मा ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया
मुरैना 16 मई 2021/ डेंगू की रोकथाम हेतु जागरूकता के लिए डेंगू जनजागरूकता रथ को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. ए.डी.शर्मा ने हरी झण्डी दिखाकर रविवार को जिला चिकित्सालय मुरैना से शहर में प्रचार-प्रसार हेतु रवाना किया। इस अवसर पर सिविल सर्जन सह, अस्पताल अधीक्षक जिला चिकित्सालय डाॅ ए.के.गुप्ता जिला मलेरिया अधिकारी श्री हरिओम सिहं, जिला स्वास्थ्य अधिकारी-3 डाॅ. गिर्राज गुप्ता, डिप्टी मीडिया अधिकारी श्रीमती बसंती बाजौरिया एवं स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी, कर्मचारी उपस्थिति थे।
इस वर्ष राष्ट्रीय डेंगू दिवस की थीम ’’च्त्म्टम्छज्प्व्छ व्थ् क्म्छळन्म् ैज्।त्ज्ै थ्त्व्ड भ्व्डम्’’ अर्थात् डेंगू की रोकथाम घर से शुरू होती है रहेगी। डेंगू जागरूकता रथ के माध्यम से आमजन को बुखार आने पर डेंगू की जाॅच कराने एवं उपचार लेने हेतु नजदीकी स्वास्थ्य संस्था में पहुॅचने के लिये प्रेरित किया गया। घर में पानी जमा न होने एवं डेंगू के लार्वा नष्ट करने व मच्छरदानी का उपयोग हेतु जागरूक किया गया। साथ ही हर रविवार को डेंगू पर वार की थीम पर खास रविवार के खास कार्य जैसे कूलरों, पानी की टंकिया एवं गमलों, फ्रीज के पीछे ट्रे में जमा पानी को निकाल कर साफ सफाई रखें। फुल आस्तिन के कपड़े पहने रात को सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें।

’हल्के एवं बिना लक्षण वाले मरीजों के लिए होम आइसोलेशन सम्बन्धी एडवाइजरी’
मुरैना 16 मई 2021/कोविड-19 के बहुत हल्के एवं बिना लक्षण वाले मामलों के मरीजों के लिये होम आइसोलेशन हेतु नवीन दिशा-निर्देश जारी किये हैं। नवीन निर्देशानुसार अनुसार मास्क के उपयोग के 8 घंटे या उससे पहले यदि मास्क गीला या गंदा हो जाए तो इसे फेंक दें। मरीज एक निर्धारित कमरे में रहें और घर में अन्य लोगों, विशेषकर बुजुर्ग और उच्च रक्तचाप, गुर्दे की बीमारी आदि जैसी सह-रुग्ण स्थितियों वाले लोगों, से दूर रहें। मरीज को अच्छे हवादार क्रॉस वेंटिलेशन वाले कमरे में रहना चाहिए और कमरे की खिड़कियों को हमेशा खुला रखना चाहिए ताकि कमरे में स्वच्छ हवा आ सके।
मरीज को हमेशा ट्रिपल-लेयर मास्क पहने रहना चाहिए। मास्क को फेंकने से पहले 1 प्रतिशत सोडियम हाइपो-क्लोराइट से कीटाणुमुक्त किया जाना चाहिए। बीमार व्यक्ति के कमरे में जाने पर देखभाल करने वाले व मरीज दोनों को एन-95 मास्क पहनना चाहिए। शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा बनाए रखने के लिए मरीज को आराम करना चाहिए और तरल पदार्थों का अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। हमेशा श्वसन संबंधी शिष्टाचार का पालन करें। साबुन और पानी से कम से कम 40 सेकेंड तक थोड़ी-थोड़ी देर बाद हाथ धोएं अथवा हाथों को एल्कोहल युक्त सैनिटाइजर से साफ करें घर के किसी भी सदस्य के साथ अपने वैयक्तिक सामानों को साझा न करें। कमरे में अक्सर छुई जाने वाली सतहों को 1 प्रतिशत हाइपोक्लोराइट सॉल्यूशन से साफ करें। पल्स ऑक्सीमीटर की मदद से ब्लड ऑक्सीजन के स्तर की नियमित तौर पर स्वयं निगरानी अवश्य करें। मरीज दैनिक स्तर पर शरीर के तापमान की जांच के साथ अपने स्वास्थ्य की स्वयं-निगरानी करेगा और तबीयत ज्यादा खराब होने पर तुरंत नजदीकी अस्पताल को रिपोर्ट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort