• Sat. Jun 25th, 2022

हिन्दू और हिंदुवादी

Byadmin

Dec 29, 2021

हिन्दू और हिंदुवादी :-:

हिंदू और हिंदूवादी पर नवीन जानकारी मिलने पर,मन में कुछ प्रश्न उठे ,जो कि निम्न हैं :-

  • ईसाई और ईसाईवाद क्या हैं ?
  • बौद्ध और बौद्धवाद क्या हैं ?
  • इस्लाम और इस्लामवाद क्या हैं ?
  • क्या जो अंतर हिंदू और हिंदूवाद में हैं, क्या वहीं सब अंतर इनमें भी हैं या इन शब्दों का कोई दूसरा मतलब हैं ?
    जिस व्याकरण का उपयोग करके हिंदू या हिंदूवादी शब्द को परिभाषित किया जाता हैं,उसी व्याकरण के अनुसार दूसरें शब्दों को क्यों नहीं ? हिंदूवादी शब्द की जो परिभाषा हमें बताई गई ,क्या उसी परिभाषा को ईसाई या बौद्ध सम्प्रदाय पर लागू करना,अभिव्यक्ति की स्वत्रंतता के अंतर्गत आएगा या फ़िर सम्प्रदाय विशेष के विरुद्ध तनाव फैलाने के अपराध के अंतर्गत आएगा ?? शब्दों के इसी मायाजाल में उलझाकर ,आमजनों को नास्तिकता व अधर्म की ओर धकेला जा रहा हैं ताकि वह भौतिकवाद और अधर्म को ही सत्य मान ले।सनातनी ग्रंथों को जलाने वालो की मूर्तियां चौराहें पर लगाई जाती हैं और किसी अन्य के धर्मग्रंथ को जलाने वाले की लाशें चौराहें पर लटकाई जाती हैं । फ़िर ढिंढोरा पीटा जाता हैं कि कानून सबके लिए बराबर हैं।सबसे पहले भारतीय संस्कृति और प्रकृति के आधार पर नीति नियमों को बनाया जाए और फ़िर सभी शब्दों की सभी परिभाषाओ को सभी पर समान रूप से लागू किया जाए।सभी उन शब्दों के अनुसार अपने आप को बदलें, न कि अलग अलग लोगों के अनुसार शब्दों के अलग अलग मतलब निकालकर,सभी में आपस में घृणा के बीज बोकर,सत्ता स्थापित की जाए।विजय सत्य की ही होगी।

धन्यवाद :- बदला नहीं बदलाव चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort