• Sun. Jun 26th, 2022

ह्रदयाघात(heart attack)

Byadmin

Nov 7, 2021

:-: ह्रदयाघात(heart attack) :-:
कई कारणों से होने वाला ह्रदयाघात आजकल आम हो गया,इसका एक महत्वपूर्ण कारण टाइल्स या मार्बल्स भी हैं,अज्ञानता के कारण जिसका उपयोग आधुनिक घरों में होने लगा हैं।जब हम टाईल्स पर चलते है, तो ठोस सतह होने के कारण धीरे धीरे हमारें पैरों की मांसपेशियों में तनाव होने लगता,जिससे उनमें अधिक घर्षण होने से उनमें उपस्थित द्रव्य जल्दी सूखने लगता हैं।घर्षण अधिक होने से सारे शरीर में होने वाले रक्त परिवहन में भी बाधा उत्पन्न होती हैं, और एक लंबे अंतराल में यह बाधा,ह्रदय को भी अपने चपेट में ले लेती हैं, जिसके कारण हृदयाघात हो जाता हैं।शहरी और आधुनिक युवाओं में हृदयाघात की समस्या अधिक हैं।टाइल्स या कठोर सतह पर चलने से हिप और नी रिप्लेसमेंट की समस्या भी उत्पन्न होती हैं, इसलिये हमारें पूर्वज जो मार्बल्स का उपयोग करना जानते थे,वह केवल मार्बल्स को सार्वजनिक स्थानों जैसे मंदिरों और महलों में ही उपयोग करते थे,जिसके हज़ारों उदाहरण हमारें सामने हैं, लेकिन आम लोगों के घरों में गोबर की लीपा पोती वाली फर्श रहती थी,जो मुलायम होती थी,जिस पर चलने से शरीर पर कोई विपरीत प्रभाव नहीं पड़ता था।टाईल्स में चलने में मनुष्य के साथ ही अन्य जीवों पर भी विपरीत प्रभाव पड़ता हैं।जिस लीपा पोती का आजकल का आधुनिक समाज उपहास उड़ाता हैं, वास्तव में वह स्वस्थ रहने की वैज्ञानिक तकनीक थी और जिस टाईल्स या मार्बल्स को आधुनिक विज्ञान समझ रहा हैं, वह केवल अल्पज्ञान के कारण होने वाला मतिभ्रम हैं।लीपा पोती वाली वैज्ञानिक सनातन संस्कृति की ओर लौटिए और स्वस्थ एवं सुखी जीवन जियें। विजय सत्य की ही होगी।
धन्यवाद :-बदला नहीं बदलाव चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort