• Sun. May 22nd, 2022

Month: May 2022

  • Home
  • समान दंड व्यवस्था

समान दंड व्यवस्था

:-: समान दंड व्यवस्था :-:समाज में समानता लाने की जो बातें वर्तमान में की जाती हैं, वास्तव में वह अपराधियों को मिलने वाले दंड में समानता लाकर की गई ,जिसके…

आज का राशिफल

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉🌄सुप्रभातम🌄🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓🌻शनिवार, २१ मई २०२२🌻 सूर्योदय: 🌄 ०५:३२सूर्यास्त: 🌅 ०६:५९चन्द्रोदय: 🌝 २४:३८चन्द्रास्त: 🌜१०:१९अयन 🌕 उत्तरायने (उत्तरगोलीयऋतु: 🌞 ग्रीष्मशक सम्वत: 👉 १९४४ (शुभकृत)विक्रम सम्वत: 👉 २०७९ (नल)मास 👉…

अभिनेत्री या female acteress :-:

:-: अभिनेत्री या female acteress :-:भरत मुनि रचित नाट्य शास्त्र एवं धनंजय रचित दशरूपकम (10 वी सदी में ) ग्रंथ में अभिनेता के साथ साथ अभिनेत्री के भेद,अवस्थाएं,गुण आदि का…

आज का राशिफल

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉🌄सुप्रभातम🌄🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓🌻शुक्रवार, २० मई २०२२🌻 सूर्योदय: 🌄 ०५:३३सूर्यास्त: 🌅 ०६:५९चन्द्रोदय: 🌝 २३:५१चन्द्रास्त: 🌜०९:०९अयन 🌕 उत्तरायने (उत्तरगोलीयऋतु: 🌞 ग्रीष्मशक सम्वत: 👉 १९४४ (शुभकृत)विक्रम सम्वत: 👉 २०७९ (नल)मास 👉…

न्याय व जेल

:-: न्याय व जेल :-:दंडस्वरूप जेल भेजना पीड़ितों के साथ छलावा हैं।अपराधी स्वभाव वाला व्यक्ति जेल जाकर सुरक्षित और तनावमुक्त हो जाता हैं,साथ ही समय पर भोजन,स्वास्थ्य लाभ व अन्य…

आज का राशिफल

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉🌄सुप्रभातम🌄🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓🌻गुरुवार, १९ मई २०२२🌻 सूर्योदय: 🌄 ०५:३३सूर्यास्त: 🌅 ०६:५८चन्द्रोदय: 🌝 २२:५६चन्द्रास्त: 🌜०८:०२अयन 🌕 उत्तरायने (उत्तरगोलीयऋतु: 🌞 ग्रीष्मशक सम्वत: 👉 १९४४ (शुभकृत)विक्रम सम्वत: 👉 २०७९ (नल)मास 👉…

मंदिर विध्वंस

:-: मंदिर विध्वंस :-:अनेकों ब्राह्मणों की हत्या के बाद अशोक ने भारत को नास्तिक बौद्ध देश बनाकर,अनेकों मंदिरों को तोड़कर उन्हें बौद्ध मंदिरों में बदल दिया,उसके बाद शंकराचार्य ने चतुष्पिठो…

आज का राशिफल

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉🌄सुप्रभातम🌄🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓🌻बुधवार, १८ मई २०२२🌻 सूर्योदय: 🌄 ०५:३४सूर्यास्त: 🌅 ०६:५८चन्द्रोदय: 🌝 २१:५२चन्द्रास्त: 🌜०६:५९अयन 🌕 उत्तरायने (उत्तरगोलीयऋतु: 🌞 ग्रीष्मशक सम्वत: 👉 १९४४ (शुभकृत)विक्रम सम्वत: 👉 २०७९ (नल)मास 👉…

अंग्रेजी कानून

:-: अंग्रेजी कानून :-:देशद्रोह कानून के लिए निष्कर्ष निकाला गया कि अंग्रेजों का कानून स्वतंत्र भारत में क्यों ? तो कृपया बताएं कि नागरिक प्रक्रिया सहिंता(1908),भारतीय दंड सहिंता (IPC 1860),भारतीय…

अहिंसा व शांति

:-: अहिंसा व शांति :-:वैसे बौद्ध विचारधारा वाले लोग अपने आप को नास्तिक,अहिंसक,शांतिप्रिय व धर्मनिरपेक्ष बताते हैं लेकिन जैसे ही इनका प्रभाव बढ़ता हैं, यह उस देश को संवैधानिक रूप…

AllEscort