• Sun. May 29th, 2022

कलेक्टर ने नगर निगम एवं महिला बाल विकास विभाग के अंतर्गत संचालित केन्द्रों का किया औचक निरीक्षण
मुरैना 06 जनवरी 2021/ शासन की प्राथमिकता को ध्यान में रखते हुये कलेक्टर अनुराग वर्मा ने बुधवार को प्रातः नगर निगम की पंडित दीनदयाल रसोई, अभ्युदय आश्रम, बाल संप्रेक्षण ग्रह, बाल ग्रह, सुधार योजनांतर्गत ग्रह का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान आ रही कठिनाईयों में सुधार लाने के निर्देश संबंधित विभाग को दिये। भ्रमण के समय आयुक्त नगर निगम श्री अमरसत्य गुप्ता, जिला कार्यक्रम एवं महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्रीमति उपासना राय सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने पंडित दीनदयाल रसोई का किया निरीक्षण
मुरैना शहर के मध्य में मेलाग्राउण्ड के समीप नगर निगम के सहयोग से पंडित दीनदयाल रसोई का संचालन किया जा रहा है। पंडित दीनदयाल रसोई में कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने पहुंचकर रसोई का जायजा लिया। रसोई में प्रतिदिन खाना खाने आने वाले लोगों की जानकारी ली जिसमें रसोई संचालक ने बताया कि लगभग 150 लोग प्रतिदिन 5 रूपये में भोजन ग्रहण कर रहे हैं जिसमें दाल एक सब्जी, 4 रोटी और चावल पर्याप्त मात्रा में देने की जानकारी दी। कलेक्टर ने दीनदयाल रसोई के कार्य से प्रसन्नता जाहिर की और शिटिंग बढ़ाने के निर्देश नगर निगम कमिश्नर को दिये।
हमारी पहली प्राथमिकता बच्चों के लियेः कैम्पस अधीक्षिका की फैमिली के लिये नहीं- कलेक्टर
अभ्युदय आश्रम का किया निरीक्षण

कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा प्रातः शहर के मध्य में संचालित अभ्युदय आश्रम का निरीक्षण किया निरीक्षण के दौरान मात्र 80 छात्र छात्रायें मौजूद थे जिसमें कलेक्टर ने अभ्युदय आश्रम में बालिकाओं के रहने खाने एवं साफ सफाई के संबंध में अवलोकन किया। कई छात्राओं से शिक्षा का स्तर भी परखा। कलेक्टर ने अभ्युदय आश्रम की संचालिका श्रीमती अरूणा छारी को सख्त निर्देश दिये कि सर्दी से बचने के लिये छात्रों का ख्याल पहले रखा जाये स्वयं का नहीं। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि यह आश्रम छात्रों के लिये है उन्हें ही बेहतर सुविधायें दी जायें। संचालिका को बेहतर सुविधायें देना नियम में नहीं। यह आश्रम छात्र छात्राओं के लिये है। कलेक्टर ने छात्रों के कक्षों में पहुंचकर निरीक्षण किया तो कई पलंगों पर चादर फटे हुये थे तो कई पलंग पर चादर नहीं थे। छात्रों के लिये रूम पर्याप्त मात्रा में नहीं थे। कलेक्टर ने अप्रसन्नता व्यक्त करते हुये अधीक्षिका को निर्देश दिये कि अधीक्षक रूम में छात्रों का रूकने का प्रबंध किया जाये अधीक्षिका छात्राओं के कक्ष के समीप रूकने की व्यवस्था करे। उनके लिये आलीशान शानौशौकत नहीं चलेगी। कलेक्टर ने कहा कि प्रति बच्चे को 750 रूपये मासिक शासन द्वारा प्रदान किया जाता है। उनको ही बेहतर सुविधायें नहीं दे सके तो अगले राउंड में संबंधित अधीक्षिका पर कार्यवाही करूंगा। कलेक्टर ने प्रत्येक कक्ष का निरीक्षण किया एवं बच्चों से 13 का पहाड़ा पूछा।

कलेक्टर ने बाल संप्रेक्षण ग्रह पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया
कलेक्टर प्रातः बाल संप्रेक्षण ग्रह पहुंचे जहां 50 बच्चों के स्थान पर मात्र 30 बच्चे मौजूद थे। कलेक्टर ने बच्चों से शासन द्वारा मिलने वाली सुविधायें जैसे समय पर खाना, नाश्ता, साफ सफाई आदि के संबंध में विस्तार से पूछताछ की एवं उसमें चल रहे रिनोवेशन कार्य को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। इसके अलावा कलेक्टर श्री वर्मा ने कैम्पस के बाहर पडी गंदगी को साफ सुथरा बनाने के निर्देश नगर निगम कमिश्नर को दिये।
कलेक्टर ने बाल ग्रह आश्रय का किया निरीक्षण
वनखंडी रोड स्थित महिला एवं बाल विकास विभाग से प्राप्त एड के आधार पर संचालित बाल ग्रह आश्रय का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मात्र दो बच्चे पाये गये थे। जबकि बाल ग्रह आश्रय की क्षमता 50 थी। इस कलेक्टर ने जिला एवं महिला बाल विकास विभाग को निर्देश दिये कि दो बच्चों पर शासन का इस प्रकार का व्यय करना उचित नहीं। दूसरे सेंटर पर इस सेंटर को शिफट करायें।

स्वधार योजना अन्तर्गत स्वधार ग्रह का किया निरीक्षण
कलेक्टर ने बड़ोखर स्थित महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित स्वधर योजनाप्तर्गत स्वधार ग्रह का निरीक्षण किया निरीक्षण के दौरान 28 महिलायें मौजूद थीं जिनमें 18 महिलाऐं ऐसी थी जिनके कोर्ट प्रकरण चल रहे थे । कलेक्टर ने वहां व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया और महिलाओं के लिए सैनेट्रीपैड डिसपोजन करने के लिए मशीन लगाने के निर्देश श्रीमती उपासना राय को दिये।
नगर निगम द्वारा चलाया विशेष सफाई अभियान

मुरैना 06 जनवरी 2021/ आयुक्त नगर निगम श्री अमरसत्य गुप्ता के निर्देश पर स्वास्थ्य अधिकारी श्री राकेश कुमार श्रीवास्तव द्वारा वार्ड क्रमांक 29, 30 एवं 27 में सफाई अभियान चलाया गया। विशेष सफाई अभियान के अन्तर्गत नालियों की सफाई, कचरे के ढ़ेरों को भरवाने एवं कीटनाशक दवाओं को छिड़काव कराया गया। इस अवसर पर स्वास्थ्य निरीक्षक कु. शिम्मी, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी श्री केशव सिंह, एसआई दाताराम द्वारा सफाई कार्य कराया गया।

प¨ल्ट्री अ©र प्रवासी पक्षिय¨ं की विशेष निगरानी
मुरैना 06 जनवरी 2021/जिल¨ं में पदस्थ पशुपालन विभाग के अधिकारिय¨ं से कहा गया है कि क©अ¨ं की मृत्यु की सूचना प्राप्त ह¨ते ही जिला कलेक्टर के मार्गदर्शन में स्थानीय प्रशासन अ©र अन्य विभाग¨ं के समन्वय से तत्काल नियंत्रण एवं शमन की कार्यवाही कर रिप¨र्ट संचालनालय भेजें। तत्काल संबंधित स्थल का भ्रमण कर आसपास के क्षेत्र¨ं में भी र¨ग उदभेद नियंत्रण एवं शमन की कार्यवाही सुनिश्चित करें। प¨ल्ट्री एवं प¨ल्ट्री उत्पाद बाजार, फार्म, जलाशय¨ं एवं प्रवासी पक्षिय¨ं पर विशेष निगरानी रखते हुए प्रवासी पक्षिय¨ं के नमूने एकत्र कर भ¨पाल लैब क¨ भेजें। र¨ग नियंत्रण कार्य में लगे हुए अमले क¨ स्वास्थ्य विभाग द्वारा पीपीई किट, एंटी वायरल ड्रग, मृत पक्षिय¨ं, संक्रमित सामग्री एवं आहार का डिस्प¨जल अ©र डिसइन्फेक्शन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं।
बर्ड फ्लू के लक्षण, पक्षिय¨ं पर नजर रखें

पशुपालन मंत्री श्री पटेल ने कहा कि क©अ¨ं में पाया जाने वाला वायरस भ्5छ8 अभी तक मुर्गिय¨ं में नहीं मिला है। मुर्गिय¨ं में पाया जाने वाला वायरस सामान्यतरू भ्5छ1 ह¨ता है। श्री पटेल ने ल¨ग¨ं से अपील की है कि पक्षिय¨ं पर नजर रखें। यदि पक्षिय¨ं की आँख, गर्दन अ©र सिर के आसपास सूजन है, आँख¨ से रिसाव ह¨ रहा है, कलगी अ©र टांग¨ं में नीलापन आ रहा है, अचानक कमज¨री, पंख गिरना, पक्षिय¨की फुर्ती, आहार अ©र अंडे देने में कमी दिखाई देने के साथ असामान्य मृत्यु दर बढ़े, त¨ सतर्क ह¨ जायें। इसे कदापि छुपाएँ नहीं, वरना यह परिवार के स्वास्थ्य के लिये नुकसानदायक ह¨ सकता है। पक्षिय¨ं की मृत्यु की सूचना तत्काल स्थानीय पशु चिकित्सा संस्था या पशु चिकित्सा अधिकारी क¨ दें।
बर्ड फ्लू सर्विलांस का काम जारी
श्री पटेल ने बताया कि प्रदेश के सभी जिल¨ं में बर्ड फ्लू सर्विलांस का काम जारी है। प्रदेश के कुक्कुट फार्म, कुक्कुट बाजार, जलाशय¨ं आदि की सतत निगरानी की जा रही है। क©अ¨ं अ©र पक्षिय¨ं के नमूने एकत्र कर स्टेट डी.आई. लैब, भ¨पाल के माध्यम से भारतीय उच्च सुरक्षा, पशु र¨ग अनुसंधान प्रय¨गशाला (छप्भ्ै।क्) भ¨पाल क¨ नियमित भेजे जा रहे हैं। जिल¨ं में जिला प्रशासन, पशुपालन, वन, स्वास्थ्य विभाग आदि के समन्वय से र¨ग नियंत्रण कार्यवाही जारी है।

नगरीय निकाय¨ं की मतदाता-सूची के वार्षिक पुनरीक्षण का कार्यक्रम जारी
फ¨ट¨युक्त मतदाता-सूची का प्रकाशन 3 मार्च क¨
मुरैना 06 जनवरी 2021/ राज्य निर्वाचन आय¨ग के सचिव श्री दुर्ग विजय सिंह ने जानकारी दी है कि राज्य निर्वाचन आय¨ग द्वारा नगरीय निकाय¨ं के निर्वाचन के लिये एक जनवरी, 2021 की संदर्भ तारीख के आधार पर फ¨ट¨युक्त मतदाता-सूची के वार्षिक पुनरीक्षण के लिये कार्यक्रम जारी कर दिया गया है। मतदाता-सूची का अंतिम प्रकाशन 3 मार्च, 2021 क¨ ह¨गा।
फ¨ट¨युक्त प्रारूप मतदाता-सूची का नगरीय निकाय¨ं के वार्ड एवं अन्य विहित स्थान¨ं पर सार्वजनिक प्रकाशन 8 फरवरी, 2021 क¨ ह¨गा। दावा-आपत्ति केन्द्र¨ं पर 15 फरवरी तक दावे-आपत्ति लिये जायेंगे। दावे-आपत्तिय¨ं का निराकरण 20 फरवरी तक किया जायेगा। फ¨ट¨युक्त अंतिम मतदाता-सूची का नगरीय निकाय¨ं के वार्ड तथा अन्य विहित स्थान¨ं पर सार्वजनिक प्रकाशन 3 मार्च, 2021 क¨ किया जायेगा।

अति आवश्यक श्रेणी में आने वाली दवाईयों की उपलब्धता सातों दिन और चैबीसों घंटे रहे
अनदेखी पर सिविल सर्जन और सीएमएचओ सीधे जिम्मेदार होंगे
मुरैना 06 जनवरी 2021/सभी जिला स्वास्थ्य संस्थाओं में अति आवश्यक औषधि की श्रेणी में आने वाली दवाइयों, ईडीएल, एसेंशियल ड्रग लिस्ट की दवाईयों की स्वास्थ्य संस्थाओं में उपलब्धता सातों दिन चैबीस घंटे रहना चाहिए। ऐसा नहीं होने पर सिविल सर्जन और जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सीधे जिम्मेदार होंगे। निर्देशों की अनदेखी पर उनके विरुद्ध कार्रवाई भी हो सकती है।
प्रबंध संचालक एमपी हेल्थ सर्विस कॉरपोरेशन द्वारा प्रदेश के सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों और सिविल सर्जन को निर्देशित किया गया है कि वे स्वास्थ संस्थाओं के औषधि भंडारण की स्थिति का निरीक्षण करें और यह सुनिश्चित करें कि अति आवश्यक औषधियों की श्रेणी में आने वाली दवाएं संस्था में पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। इन दवाईयों का 3 माह का बफर स्टॉक संस्थाओं में रखा जाए। निरीक्षण के दौरान यदि दवाई कम मात्रा में अथवा अनुपलब्ध है तब इन दवाईयों को क्रय करने के लिए तत्काल आदेश जारी करें और इनकी संस्थाओं में उपलब्धता सुनिश्चित करने भौतिक सत्यापन करें। इसे एमपी औषधि पोर्टल पर अपडेट भी करें। इसमें अनदेखी और लापरवाही संज्ञान में आने पर संबंधित जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और संबंधित स्वास्थ्य संस्था के सिविल सर्जन सीधे जिम्मेदार होंगे और इस पर उनके विरुद्ध कार्यवाही भी हो सकती है।

’फसलों को पाले से बचाने हेतु उपाय अपनाने की सलाह’
मुरैना 06 जनवरी 2021/ सर्दी के मौसम में उगाई जाने वाली अधिकांश फसलें पाले से प्रभावित हो सकती है। सब्जी और फल पाले के लिये अधिक संवेदनशील होते है और पाला पड़ने से फसलों को अधिकांश या पूर्ण रूप से हानि हो सकती है, तापमान में अत्याधिक कमी होने के कारण पाला पडने की आशंका आमतौर पर इस समय होती है। जब रात के समय वायुमंडल का तापमान शून्य डिग्री सेल्सियस या उससे नीचे चला जाता है, और अचानक हवा बंद हो जाती है तो भूमि के धरातल के आसपास घास फूस एवं पौधो की पत्तियों पर बर्फ की पतली परत जम जाती है, इस पतली परत को पाला कहते है।
रबी फसलों पर जिस दिन विशेषकर तापमान कम हो शाम को हवा चलना बंद हो जाये ओर रात्रि में आसमान साफ एवं आद्रता प्रतिशत कम हो उस रात पाला पडनें की संभावना अधिक होती है। पाला पडने की संभावना होने पर रात 12 से 2 बजे के आसपास खेत की उत्तर-पश्चिम दिश से आने वाली ठंडी हवा की दिशा में खेत के किनारे पर बोई गई फसलों के आसपास मेढ़ो पर घासफूस एकत्र कर धूऑ करके फसलों को पाले से बचाया जा सकता है। इसी प्रकार हल्की सिंचाई करने से भी फसलों को पाले से बचाया जा सकता है। जिस दिन पाला पडने की संभावना हो उस दिन जलविलेय सल्फर 80 की 500 ग्राम मात्रा प्रति एकड की दर से छिड़काव किया जा सकता है। अथवा 10 से 15 प्रतिषत गौमूत्र का घोल फसलो पर छिड़काव करने से भी फसलों को पाले से बचाया जा सकता है।

बर्ड फ्लू र¨कने प्रदेश में अलर्ट जारी
क©अ¨ं में पाया जाने वाला वायरस मुर्गिय¨ं में अभी तक नहीं मिला
मुरैना 06 जनवरी 2021/पशुपालन मंत्री श्री प्रेम सिंह पटेल के निर्देश पर प्रदेश में ह¨ रही क©अ¨ं की मृत्यु पर प्रभावी नियंत्रण लगाने के लिये अलर्ट जारी कर दिया गया है। प्रदेश के सभी जिल¨ं क¨ सतर्क रहने तथा किसी भी प्रकार की परिस्थिति में क©अ¨ं अ©र पक्षिय¨ं की मृत्यु की सूचना पर तत्काल र¨ग नियंत्रण के लिये भारत सरकार द्वारा जारी निर्देश¨ं के तहत कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं। प्रदेश में 23 दिसम्बर से 3 जनवरी, 2021 तक इंद©र में 142, मंदस©र में 100, आगर-मालवा में 112, खरग¨न जिले में 13, सीह¨र में 9 क©अ¨ं की मृत्यु हुई है। मृत क©अ¨ं के सैम्पल भ¨पाल स्थित स्टेट डी.आई. लैब तत्काल भेजे जा रहे हैं। इंद©र में कंट्र¨ल-रूम की स्थापना कर रेपिड रिस्पांस टीम द्वारा कार्यवाही की जा रही है।

समाधान ऑनलाइन कार्यक्रम आज
मुरैना 06 जनवरी 2021/समाधान ऑनलाइन कार्यक्रम 7 जनवरी को प्रातः 11.30 बजे से आरंभ होगा। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न जिलों के आवेदकों के आवेदन पत्रों पर सुनवाई करेंगे। सभी संबंधित अधिकारियों से कार्यक्रम में उपस्थित रहने का अनुरोध किया गया है।

नेशनल बेविनार इनोवेटिव ट्रेन्ड्स इन केमिकल एण्ड इंवायरमेन्टल सांइसेस कार्यक्रम संपन्न
मुरैना 06 जनवरी 2021/ शासकीय पी.जी. काॅलेज मुरैना के रसायन शास्त्र विभाग में 6 जनवरी को विश्व बैंक परियोजना अन्तर्गत राष्ट्रीय बेविनार का आयोजन इनोवेटिव ट्रेन्ड्स इन केमिकल एण्ड इंवायरमेन्टल सांइसेस विषय पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में डाॅ. एम.समीम जामिया हमदर्द, विश्व विद्यालय नई दिल्ली द्वारा नेनो टेक्नोलाॅजी के आधारीय परिचय के साथ हरित रसायन में उपयोगता व कोविड-19 के परिपेक्ष्य में प्राकृतिक औषधीय स्वरूप की कैसे औषधीय मान को बढ़ाकर सामान्य जनहित के हित में ला सकते। डाॅ. गौतम जयसवाल आगरा विश्व विद्यालय ने पर्यावरण प्रदूषण को कम करने के लिये प्रयोगशाला में प्रयुक्त रसायन की विधिओं और प्रति स्थापायियों के परिवर्तन के महत्व को समझाकर प्रर्यावरण के प्रदूषण के तत्वों को विषेले प्रभाव को कैसे कम किया जा सकता है।
कार्यक्रम में एलबीएस महाविद्यालय जयपुर के डाॅ. मुद्रित गुप्ता ने भी पर्यावरणीय सुरक्षा के लिये हरित रसायन के महत्व को समझाया। इसकी अध्यक्षता महाविद्यालय पीजी काॅलेज मुरैना के प्राचार्य डाॅ. सीएल गुप्ता, विभागाध्यक्ष रसायन शास्त्र डाॅ. एएस गहलौत ने बेविनार का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में डाॅ. एके उपाध्याय ने कार्यक्रम का संचालन किया। कार्यक्रम में डाॅ. राजीव भदकारिया ने आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort